बदायूँ क्लब में हिन्दी दिवस के अवसर पर हुआ हिन्दी सेवियों एवं शिक्षकों का सम्मान

डी.आई.डी. एवं जिलाधिकारी ने किया ‘हिन्दी सेवी व शिक्षक शिरोमणि सम्मान’ से सम्मानित

बदायूँ क्लब द्वारा गत वषों की भांति इस बार भी हिन्दी दिवस के अवसर पर क्लब सभागार में ‘हिन्दी सेवी सम्मान एवं शिक्षक शिरोमणि सम्मान’ समारोह एवं विचार गोष्ठी का विराट आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में जहां जनपद में जन्म लेकर विभिन्न क्षेत्रों में हिन्दी भाषा के विकास एवं उत्थान हेतु योगदान देने के लिए मूर्धन्य विद्वानों, महिला साहित्यकारों को सम्मानित किया गया वहीं जनपद के शिक्षा जगत में अमूल्य योगदान देने वाले शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न विद्वान एवं साहित्यकारों द्वारा अपने सारगर्भित विचारों द्वारा हिन्दी के प्रचार, प्रसार एवं उत्थान हेतु उद्गार भी व्यक्त किये। आयोजन में हिन्दी मासिक पत्रिका एडिटर प्वांइट के बदायूँ जनपद की विषेश महिला विशेषांक अंक का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ पुलिस उप महानिरीक्षक बरेली परिक्षेत्र श्री राजेष कुमार पाण्डेय, जिलाधिकारी, श्री दिनेश कुमार सिंह, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अशोक कुमार त्रिपाठी, खण्डेलवाल कालिज, बरेली के प्रबन्ध निदेशक डॉ. विनय खण्डेलवाल, बरेली के वरेण्य साहित्यकार शिक्षाविद् डॉ. एन. एल. शर्मा ने मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर एवं पुष्प अर्पित कर कार्यक्रय का शुभारम्भ किया। डॉ. सोनरूपा विशाल ने मां सरस्वती की वन्दना प्रस्तुत की। सभी अतिथियों द्वारा डॉ. उर्मिलेश की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किये।

कार्यकारिणी द्वारा सभी अतिथियों का माल्यार्पण कर, शाल उड़ाकर एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मान किया गया। तदनुपरान्त शिक्षकों एवं हिन्दी विद्वानो का सम्मान किया गया। सम्मानित होने वाले हिन्दी सेवियों में एन.एम. एस. एस. एन. दास कालिज की सेवानिवृत्त एसो. प्रोफेसर एवं साहित्यकार डॉ. कमला माहेष्वरी, साहित्यकार डॉ. ममता नौगरिया, अन्तरराष्ट्रीय कवयित्री डॉ. सोनरुपा विशाल, गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय की हिन्दी प्रवक्ता व कवियत्री डॉ. शुभ्रा माहेष्वरी, महिला साहित्यकार डॉ. दीप्ति वैभव जोशी, राजकीय महिला महाविद्यालय की हिन्दी विभाग की एसोसियेट प्रोफेसर डॉ. वन्दना मिश्रा साहित 6 हिन्दी सेवी प्रमुख रहे। वहीं कार्यक्रम में सम्मानित होने वाले शिक्षकों में प्रमुख रुप से एन.एम. एन. एन. दास कालिज की प्राचार्य डॉ. संजीव सक्सेना, दास डिग्री कालिज के ही रसायन विभाग के एसो प्रोफेसर प्रशान्त कोहली, गिन्दो देवी महिला महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ. गार्गी बुलबुल, केदारनाथ महिला इण्टर कालिज की प्रधानाचार्या श्रीमती अमलेश गुप्ताश्री कृष्ण इण्टर कालिज के प्रवक्ता श्री राजीव राज गुप्ता एवं भौतिक विज्ञान प्रवक्ता श्री संदीप भारती, मुन्ना लाल इण्टर कालिज, बजीरगंज के प्रधानाचार्य श्री पुष्पदेव भारद्वाज, ब्लूमिंगडेल स्कूल के प्रधानाचार्य श्री एन. सी. पाठक, उझानी प्राथमिक षिक्षा विद्यालय के षिक्षक अयोघ्या प्रसाद शर्मा, प्राथमिक विद्यालय गंगपुर पुख्या, कादरचौक के शिक्षक प्रवीण कुमार, पूर्व माध्यगित विद्यालय रायपुर धीरपुर, दातागंज के प्रधान अध्यापक श्री हरीश चन्द्र सक्सेना सहित कुल 11 शिक्षकों को सम्मानित किया गया। आयोजन में पत्रकार फूल खां द्वारा सम्पादित हिन्दी मासिक पत्रिका एडिटर प्वांइट के बदायूँ जनपद की विशेष महिला विशेषांक अंक का विमोचन भी किया गया। सभी शिक्षकों को शिक्षक शिरोमणि सम्मान से माल्यार्पण कर, प्रतीक चिन्ह देकर, शॉल उडा़ देकर अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया। इस अवसर पर शिक्षकों एवं हिन्दी सेवियों को सम्मानित करते हुये डी.आई.जी. राजेश कुमार पाण्डेय ने कहा, हिन्दी देश की पहचान है, हमारी अस्मिता और गर्व है अतः इसके सम्मान को बनाकर रखना और अधिक से अधिक प्रचार व प्रसार करना प्रत्येक देशवासी का कर्तव्य है। उन्होंने डॉ. उर्मिलेश के प्रति अपने उद्गार व्यक्त करते हुए उन्हें याद किया। जिलाधिकारी श्री दिनेश कुमार सिंह ने शिक्षकों को बधाई देते हुये कहा शिक्षक समाज को दिशा देने एवं मार्ग प्रशस्त करने का श्रेश्ठ कार्य करते हैं, शिक्षकों को अपने दायित्व का निर्वहन के प्रति सचेत रहना चाहिए, क्यों कि उनके द्वारा राष्ट्र निर्माण का महत्वूपर्ण योगदान दिया जाता है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने क्लब की कार्यकारिणी को बधाई देते हुये ऐसे आयोजनों को समाज की महत्वपूर्ण आवष्यक्ता बताया, उन्होंने कहा समाज सद्भाव, एकता, प्रेम एवं सौहार्द और प्रतिभाओं को प्रोत्साहन के लिए ये प्रयन्त प्रशंसनीय है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि खण्डेलवाल कालिज के प्रबन्ध निदेनक डॉ. विनय खण्डेलवाल ने हिन्दी के प्रति नयी पीढ़ी के रवैया पर दुःख जताते हुये लोगों से हिन्दी के प्रति सम्मान रखने की अपील की, उन्होंने कहा कि शिक्षक देश का निर्माण करते हैं, अब समय है। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता वरिश्ठ साहित्यकार एवं शिक्षाविद् डॉ. एन. एल. शर्मा ने ऐसे आयोजन की भरपूर प्रषंसा करते हुये कहा, उन्नत एवं प्रयोजनमूलक षिक्षा के लिए हमें नवीन तकनीक के साथ तालमेल बनाकर और विद्याथियों में रोचकता पैदा करनी होगी और इसके लिए प्रत्येक को अतिरिक्त प्रयास करना होगा तभी हम शिक्षा के स्तर को बढ़ा पायेंगे। यही बात हिन्दी भाशा के उन्नयन के लिए आवष्यक होगी। इस अवसर पर क्लब सचिव डॉ. अक्षत अशेष ने हिन्दी को आमजन की भाशा मानते हुये पंक्तियां पढ़ी हिन्दी भाशा ही नही, और ना ये सिर्फ जुबान, ये अपने जय हिन्द के नारे की पहचान। इस अवसर पर आयोजन में एस. पी. सिटी जितेंद्र श्रीवास्तव, एस. पी ग्रामीण सुरेंद्र कुमार सिंह, डॉ. एस. के. गुप्ता, दीपक सक्सेना, अनूप रस्तोगी, परविन्दर सिंह, दुआ, राम प्रकाश आहूजा, सतीश चन्द्र मिश्रा, नरेश चन्द्र शंखधार, विशाल रस्तोगी, सुमित मिश्रा, रविन्द्र मोहन सक्सेना, इकबाल असलम, भारत शर्मा, अशोक कुमार मिश्रा, सौरभ शंखधार, सुरेश चंद्र जौहरी, अभिषेक अनंत, राहुल चौबे, राजेश मौर्य, प्रषान्त दीक्षित, इकबाल इसलम, इजहार अहमद आदि उपस्थित रहे। अंत में डॉ. अक्षत अशेष ने सभी का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ. वन्दना मिश्रा ने किया।

url and counting visits