हे राम! देखिए कहाँ… माँ ने जीवित नवजात को फेंका

पत्रकारिता में उत्कृष्ट सेवा के लिए यूपी के कई पत्रकार हुए सम्मानित

शाश्वत तिवारी :

लखनऊ : पत्रकारिता में उत्कृष्ट सेवा के लिए यू0पी0 के कई पत्रकारों को सम्मानित किया गया । अविनाश चन्द्र पांड्या स्मृति पत्रकारिता अवार्ड- 2020 के डिजिटल सर्टिफिकेट ऑनलाइन माध्यम से भेजे गए। इस बार जूझते महामारी के चलते महज डिजिटल सर्टिफिकेट से अवार्ड के रूप में सम्मानित किया गया है।

अविनाश चन्द्र पांड्या स्मृति पत्रकारिता अवार्ड- 2020 से सम्मानित हुए पत्रकारो में…
01- हेमंत तिवारी
02- मनोज मिश्रा
03- श्रीधर अग्निहोत्री
04- शाश्वत तिवारी
05- डॉ0 नासिर खान (पंजाब केसरी)
06- बृजेश मिश्रा
07- अलोक त्रिपाठी
08- दया बिष्ठ (महिला)
09- भारत सिंह
10- सुबोध मिश्रा (जी न्यूज़, बरेली)
11- सौरभ उपाध्याय (फ़िरोज़ाबाद))
12- अजय वर्मा
13- संजय शर्मा
14- अश्वनी कुमार
(नॉएडा)
15- संजय चतुर्वेदी
के नाम मुख्यरूप से शामिल है।

आयोजक मंडल के सचिव, शिबू खान ने बताया कि वर्ष- 2021 से स्टेज प्रोग्राम का आयोजन सुनिश्चित करके अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा, लेकिन इस बार जूझते महामारी के चलते महज डिजिटल सर्टिफिकेट से अवार्ड के रूप में सम्मानित किया जा रहा है।

स्वर्गीय अविनाश चन्द्र पांड्या (ए० सी० पांड्या) स्मृति पत्रकारिता अवार्ड का आगाज इसी वर्ष (2020) से शुरू किया गया है, लेकिन कोरोना जैसी महामारी के चलते समारोह का ऑफ़लाइन न हो पाना दुखद रहा।

सहयोगियों की राय पर इस वर्ष का अवार्ड सर्टिफिकेट डिजिटल रूप में दिया जा रहा है। जिसे सभी सम्मानित पत्रकारगण ससम्मान स्वीकार्य करें, यदि ईश्वर की कृपा से सब ठीक रहा तो 2021 में समारोह विधिवत रूप से आयोजित किया जाएगा।

आयोजक शिबू खान ने बताया कि 20 नवम्बर, 2020 को ऑनलाइन मीटिंग रख कर वेबिनार आयोजित करने की तैयारी थी लेकिन मेरा स्वास्थ्य ज्यादा बिगड़ने व अस्पताल में भर्ती के चलते ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन नहीं हो सका, जिसके लिए मैं स्वतः क्षमा याची हूँ।

Introduction :
AC Pandeya who started his career as a Journalist with Hindustan Times later joined Govt of India. He
belonged to Central Information Service (now known as Indian Information Service). He served in various departments in Government of India’s Ministry of Information and Broadcasting. Before joining Govt service he worked with Hindustan Times as Correspondent.

He held posts of News Editor All India Radio Delhi Editor In Chief
Publications Division Head of Doordarshan Kolkata. Was WarCorrespondent4 too.

He started Development News Service in 1980 and soon got accredited with Press Information Bureau and Both Houses of Parliament as Its
Bureau Chief.

Through DNS PANDEYAJi worked tirelessly to
serve small and medium newspapers sending regular articles in English and Hindi especially members of the now one of the premier
national level media bodies namely Indian
Federation of Small and Medium Newspapers which he and his wife Mrs Pushpa Pandeya founded in 1984.

Shri AC Pandeya was a Journalist of integrity and upheld high professional values which were visible through his writings.

He was a writer and art critic told. His published works include a book titled
the Art of Kathakali which is available on
Amazon store.

He has left behind a rich legacy in Journalism. circles and an institution – IFSMN – which is seen as a major hope for protecting and safeguarding
Interests of Journalists from print/electronic/digital news media in general and small medium newspapers. periodicals n news agencies in particular.

url and counting visits