आप सब पाठकों-दर्शकों को नवरात्र के पावन पर्व की शुभकामना

सरकारी जमीनों पर ईओ की शह पर अवैध कब्ज़े से दलाल हो रहे मालामाल

IV24 न्यूज ब्यूरो चीफ कौशाम्बी मसुरिया दीन मौर्य की रिपोर्ट :

सिराथू, कौशाम्बी : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार नगर के विकास के लिए भारी भरकम धनराशि उपलब्ध करा रही है। विकास कार्यों में लीपा पोती कर भ्रष्टाचार तो जिम्मेदारों द्वारा किया जा रहा है।

लेकिन दुर्भाग्य से नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी की मिलीभगत से जनता द्वारा चुने गए चेयरमैन के इशारे पर नगर की बेशकीमती सरकारी जमीनों, तालाबों, बंजर भूमि, महिलाओं के पूजा पाठ के लिए बने देवस्थान की जमीनों पर भी अपने चहेतों व चाटुकारों को अवैध कब्ज़ा कराकर जरूरत मंदों के हाथ बेच कर अवैध तरीके से धन अर्जित कर मालामाल हो रहे हैं। नगर पंचायत में हो रहे अवैध कब्जों की खबर सम्मानित समाचार पत्रों व चैनलों में बार बार प्रकाशित होने के बाद भी प्रदेश स्तर पर आलाधिकारियों तथा नेताओं से इनकी अच्छी पकड़ होने की वजह से नगर पंचायत प्रशासन के जिम्मेदार अधिशाषी अधिकारी व लेखा लिपिक द्वारा अवैध कब्जा धारकों से मोटी रकम लेकर नए अवैध निर्माण को पुनर्निर्माण की रिपोर्ट भेजकर शासन तथा जिला प्रशासन को गुमराह कर अवैध कमाई का जरिया बना लिया गया है। जिससे अवैध कब्जा धारकों व नगर पंचायत प्रशासन के जिम्मेदारों की शिकायत करने के लिए नागरिकों व शोषितों ने तैयारी भी करना शुरू कर दिया है।

ईओ की मिलीभगत से चेयरमैन बना खाकपति से करोड़पति

सिराथू कौशाम्बी। नगर पंचायत अजुहा अधिशासी अधिकारी सूर्य प्रकाश गुप्ता की मिलीभगत से तीन साल में खाकपति से करोड़पति बने चेयरमैन अपने चहेते ठेकेदारों द्वारा नाली, सड़कें, सामुदायिक शौचालय, मानक के विपरीत बन रहा खेल का मैदान, गुणवत्ता विहीन धोबी घाटतालाब का सौंदर्यीकरण, करोड़ों रुपए की लागत से निर्मित गौशाला में भी मानक के विपरीत घटिया निर्माण सामग्री उपयोग कर ठेकेदार द्वारा धांधली करवा रहा है। नगर के जिम्मेदार विकास कार्यों के गुणवत्ता की जांच के लिए नगर विकास विभाग को भारी भरकम धनराशि देकर गुणवत्ता की जांच कराए बगैर पैकेज देकर वापस कर देते है। ईओ और तत्कालीन चेयरमैन अपने चहेते ठेकेदारों के द्वारा हुए निर्माण कार्य को बगैर पड़ताल किए शासन से स्वीकृत धन का भुगतान कर अपने हिस्से का कमीशन लेकर नगर पंचायत के रिमोट कंट्रोल तथा जिले के आलाधिकारियों के बीच डील कर जनता की गाढ़ी कमाई का धन बंदरबांट कर लिया जाता है। नागरिकों ने नगर के विकास कार्यों की जांच करने के लिए नवागत जिला अधिकारी का ध्यान आकृष्ट करने की मांग की है।

url and counting visits