सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

भारत-साइप्रस संबंधों के 60 साल पूरे : रक्षा और सैन्य सहयोग पर हुआ समझौता

विदेश मंत्री एस जयशंकर साइप्रस दौरे पर पहुंचे इस दौरान विदश मंत्री ने साइप्रस के अपने समकक्ष इयोनिस कसौलाइड्स के साथ द्विपक्षीय बैठक की और निकोसिया में रक्षा और सैन्य सहयोग पर एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। बैठक में दोनों देशों के नेताओं ने द्विपक्षीय रिश्तों की मजबूती के साथ कई अहम मुद्दों पर चर्चा की। गौरतलब है कि भारत और साइप्रस इस साल अपने द्विपक्षीय संबंधों के 60 साल पूरे कर रहे हैं।
विदेश मंत्री ने यात्रा की शुरुआत महात्मा गाँधी की

प्रतिमा पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ की और ट्वीट किया कि निकोसिया में महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए अपनी साइप्रस यात्रा की शुरुआत की। शांति और सद्भाव का उनका सार्वभौमिक संदेश हम सभी का मार्गदर्शन करता रहेगा। इसके बाद साइप्रस के विदेश मंत्री इयोनिस कसौलाइड्स से मुलाकात की और कहा कि निकोसिया में साइप्रस के विदेश मंत्री इयोनिस कसौलाइड्स से मिलकर खुशी हुई। इस साल हमारी तीसरी मुलाकात है, लेकिन यह साइप्रस में है। हमारे द्विपक्षीय संबंधों, यूरोपीय संघ और अन्य बहुपक्षीय मंचों पर सहयोग पर व्यापक चर्चा हुई। हमारे पड़ोस, भारत-प्रशांत, पश्चिम एशिया और यूक्रेन पर भी विचारों का आदान-प्रदान हुआ।

विदेश मंत्री ने अपने समकक्ष इयोनिस कसौलाइड्स के साथ द्विपक्षीय बैठक के बाद दोनों ने साइप्रस विदेश मंत्रालय में लगे कोणार्क पहिये का दौरा भी किया जिसे 2017 में भारत की ओर से एक उपहार के रूप में दिया गया था, साथ ही कहा कि यह हमारे देशों के बीच मजबूत दोस्ती का प्रतीक है। इसके अलावा भारतीय विदेश मंत्री का भारतीय प्रवासियों के साथ भी चर्चा का कार्यक्रम रहेगा और कई मंत्रिस्तरीय बैठकों में भाग लेंगे।

(रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी)