संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

सोमालिया में फंसे 33 भारतीय कामगारों की स्वदेश वापसी में भारतीय विदेश मंत्रालय को मिली सफलता

  • 11 कामगारों का पहला जत्था मेगादिशु हवाई मार्ग से पहुंचा भारत ।
  • उत्तर प्रदेश, बिहार, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और गुजरात के हैं कामगार ।

17 दिसंबर, नई दिल्ली। सोमालिया में फंसे 33 भारतीय कामगारों को स्वदेश लाने में भारतीय विदेश मंत्रालय को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है। इस संबंध में केन्या स्थित भारतीय दूतावास ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर हैंडल ‘इंडिया इन केन्या’ से ट्वीट कर जानकारी दी है। जिसमें बताया गया है कि बीते 15 दिसंबर को 11 कामगारों के पहले जत्थे को मेगादिशु से हवाई मार्ग द्वारा भारत के लिए रवाना कर दिया गया है।

भारतीय विदेश मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार 33 भारतीय नागरिक सोमालिया की जिस कंपनी में काम करते थे, उसने इनके वेतन का भुगतान नहीं किया था, जिससे वे वहीं फंसे हुए थे। बीते अकटूबर माह में इसकी जानकारी केन्या स्थित भारतीय मिशन को मिलने पर इस मुद्दे को जोरदार तरीके से उठाया गया।

मिशन के अधिकारी केन्या से सोमालिया गए और विदेश विभाग की सहायता से अधिकारियों ने वहां कंपनी और कर्मचारियों से बात की। बातचीत के बाद, कंपनी के अधिकारी भारतीयों के लंबित वेतन के भुगतान के लिए सहमत हुए। साथ ही वे ऐसे लोगों को वापस भारत भेजने के लिए भी सहमत हो गए जो घर वापस जाना चाहते थे।

इस बारे में मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि ”भारतीय कामगारों के सुरक्षित वापसी के इस सकारात्मक कदम के लिए हम सोमालिया के आभारी हैं। पहले जत्थे के तौर पर अभी 33 में से 11 भारतीयों को स्वदेश लाया गया है। आने वाले कुछ सप्ताह में बाकी 22 भारतीय नागरिकों को भी वापस लाने में हम सफल रहेंगे। सभी कामगार उत्तर प्रदेश, बिहार, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और गुजरात के हैं।”