ब्लॉक कोथावां में वोटर लिस्टों की बिक्री के नाम पर हो रही अवैध वसूली

वैज्ञानिक दृष्टिकोण व शोध से देश की जटिल समस्याओं का होगा समाधान – राजीव मल्होत्रा

यू०जे० इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित विज्ञान मेले में बाल वैज्ञानिकों ने दिखाई प्रतिभा, ‘आत्मनिर्भर-भारत’ की परिकल्पना को किया जीवंत।

कछौना(हरदोई)। नगर के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान यू०जे० इंटरनेशनल स्कूल(विशिष्ट अंग्रेजी माध्यम/सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त) में छात्र छात्राओं की वैज्ञानिक प्रतिभा से अवगत कराने के लिए प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी दो दिवसीय(27-28 फरवरी) ‘वार्षिक विज्ञान मेला’ का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ विद्यालय के संस्थापक जगदीश गुप्ता ने फीता काटकर एवं ज्ञान की देवी माँ सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन व माल्यार्पण के साथ किया।

विज्ञान मेले के प्रथम दिवस पर बच्चों ने विज्ञान के सिद्धांतों पर आधारित तरह तरह के मॉडलों का प्रदर्शन करके अपनी अंदर छुपी हुई प्रतिभा से रुबरु करवाया।वहीं विज्ञान मेले के आयोजन के द्वितीय दिवस पर मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे आईपीएस राजीव मल्होत्रा(कालांतर में हरदोई के पुलिस अधीक्षक रह चुके व अब वर्तमान में पुलिस अधीक्षक-भ्रष्टाचार निवारण संगठन,उप्र) व विशिष्ट अतिथि सहायक श्रमायुक्त अचला पांडेय ने संयुक्त रूप से छात्र छात्राओं द्वारा प्रदर्शित किए जा रहे विभिन्न मॉडलों का गहनता से अवलोकन कर बाल वैज्ञानिकों के कार्यों की सराहना की।विज्ञान प्रदर्शनी में लगभग 110 छात्र छात्राओं ने विज्ञान के सिद्धांतों पर आधारित लगभग 30-40 प्रकार के विभिन्न मॉडल्स व प्रोजेक्टों का उत्कृष्ट प्रदर्शन करके आधुनिक व ‘आत्मनिर्भर भारत’ की परिकल्पना को जीवंत कर दिया।

प्रदर्शनी में बच्चों ने एक से बढ़कर एक मॉडल्स जैसे पर्यावरण संरक्षण से संबंधित मुख्यतः जल/वायु/ध्वनि/स्थल प्रदूषण व प्राकृतिक संपदाओं के दोहन तथा प्लास्टिक के प्रयोग से होने वाले दुष्प्रभावों को अपने मॉडल में दर्शाकर पर्यावरण के बचाव के प्रति सजग करने के साथ ही सोलर प्लांट, सौरमंडल, ऑटो स्ट्रीट लाइट, वर्षा जल संचयन, विभिन्न राज्यों व वनस्पतियों का सजीव चित्रण, लाई फाई, साउंड विजिलाईजर, इनफाइनाइट वेल, सेंसर युक्त सेनिटाइजर मशीन, ऑटो क्लैम्पिंग, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट, धूम्रपान से होने वाली बीमारियों, प्रदूषण रहित परिवेश, लेमन पोटैटो, पवन चक्की आदि से संबंधित विभिन्न प्रकार के प्रोजेक्ट्स व मॉडलों को प्रदर्शित कर अपनी उच्च कौशल प्रतिभा का उत्कृष्ट उदाहरण देकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए सभी को मंत्रमुंग्ध सा कर दिया।

कक्षा 9 के छात्रों ने सौरमंडल का नायाब मॉडल बनाकर पूरे कक्ष को सौरमंडल में परिवर्तित कर दिया जिसे देखकर मुख्य अतिथि सहित सभी लोग रोमांचित हो गए और बच्चों की सराहना करते हुए उनका उत्साहवर्धन किया।विज्ञान मेले में आए मुख्य अतिथि एसपी एसीओ राजीव मल्होत्रा ने कहा कि वैज्ञानिक दृष्टिकोण अपनाकर ही देश को ऊंचाइयों पर ले जाया जा सकता है।ऐसे बाल वैज्ञानिक अपने शोध से देश की जटिल समस्याओं का समाधान करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।एक से बढ़कर एक उत्कृष्ट मॉडलों व छात्र छात्राओं कौशल को देखने के बाद मैं यकीनन कह सकता हूँ कि यू०जे० इंटरनेशनल स्कूल नन्हें वैज्ञानिकों की टीम तैयार कर रहा है।वहीं विशिष्ट अतिथि सहायक श्रमायुक्त अचला पांडेय ने कहा कि अगर बच्चे इसी तरह अपनी प्रतिभा को निखारने का संकल्प लेकर कार्य करते रहे तो उनकी सफलता को कोई रोक नहीं सकता है।

विद्यालय के संस्थापक जगदीश गुप्ता ने बताया कि विद्यालय में विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन कर बाल वैज्ञानिकों में छुपी प्रतिभा को निखारने का प्रयास किया जा रहा है।विद्यालय के निदेशक शिवम गुप्ता ने कहा कि हमारे विद्यालय में बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु विभिन्न प्रकार की गतिविधियां कराई जाती हैं जिसमें विज्ञान प्रदर्शनी एक प्रमुख कार्य है।प्रदर्शनी में प्रतिभाग करने वाले सभी बच्चों को मेडल व प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।वहीं विद्यालय की व्यवस्थापिका सौम्या गुप्ता ने बताया कि विद्यालय के प्रधानाचार्य निवास नारायण व शिक्षकगणों द्वारा बच्चों की प्रतिभा को निखारने में की गई कठिन मेहनत के फलस्वरूप बच्चों ने जिस प्रकार का उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है वह वाकई में काबिलेतारीफ है।

विज्ञान प्रदर्शनी के इस अवसर पर विद्यालय के संस्थापक जगदीश गुप्ता, निदेशक शिवम गुप्ता, पूर्व नगर अध्यक्षा उमा गुप्ता, प्रधानाचार्य निवास नारायण आदि ने इस दो दिवसीय वार्षिक मेले के सफल आयोजन पर शिक्षकगणों तथा विद्यालय स्टाफ के अथक परिश्रम की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए छात्र छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करने के साथ आगंतुक अतिथियों, अभिभावकों का आभार प्रकट किया।

रिपोर्ट ➖ एस.बी.सिंह सेंगऱ

url and counting visits