संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

नियमत: भारत अब भी ग़ुलाम है

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

● क्या आपको मालूम है, भारत की स्वतन्त्रता वर्ष २०४६ में समाप्त हो जायेगी?
● ‘सत्ता के हस्तान्तरण का समझौता’ के अन्तर्गत भारत को ९९ वर्षों के लिए गोपनीय ढंग से लिखित रूप में सत्ता सौंपी गयी है, जिसका विवरण ४,००० पृष्ठों में लिखकर सुरक्षित कर ली गयी है।
● वर्ष १९४७ में भारत को ९९ वर्षों के लिए ‘इण्डियन इण्डिपेण्डेंस एक्ट १९४७’ के अन्तर्गत आज़ादी दी गयी थी।
● नियमत: भारत आज भी एक पराधीन देश है।
● भारत ब्रिटिश राज का एक उपनिवेश है, इसीलिए वह राष्ट्रमण्डल के चौवन सदस्यों में सम्मिलित है, जो भारत की पराधीनता की पहचान है।

(सर्वाधिकार सुरक्षित– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय, प्रयागराज; २७ अक्तूबर, २०२१ ईसवी।)