इन्दिरा गांधी की जन्मतिथि के अवसर पर ही आनन्द भवन पर गृहकर की सूचना क्यों ?

◆ नगर निगम, प्रयागराज के काले कारनामे

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय (प्रसिद्ध शिक्षाविद्)

देश की भूतपूर्व प्रधानमन्त्री इन्दिरा गांधी की जन्मतिथि (१९ नवम्बर) के अवसर पर ‘नगर निगम’ ने ‘आनन्द भवन’, प्रयागराज के प्रशासक के पास ‘गृहकर’ के रूप में ४ करोड़ ३५ लाख रुपये के गृहकर के रूप में देयराशि की सूचना भेजी है। प्रश्न है, अभी तक नगर निगम के अधिकारी कहाँ और क्यों सो रहे थे? भारतीय जनता पार्टी-द्वारा प्रयोजित प्रयागराज नगर निगम का अपमान करने का यह एक घृणित ढंग है। ऐसा इसलिए कि प्रयागराज की महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी भारतीय जनता पार्टी की है और उनका पति गोपाल नन्दी भी।

यह आपत्तिजनक है। ऐसा इसलिए कि यदि गृहकर की सूचना भेजनी ही थी तो एक-दो दिन पहले अथवा बाद में भेजनी चाहिए थी।

प्रश्न है, राष्ट्रीय स्वाधीनता-क्रान्ति के केन्द्र ‘आनन्द भवन’ पर गृहकर लगना चाहिए? गृहकर के रूप में यह धनराशि कितने वर्षों की है? उक्त धनराशि का खुलासा आज ही क्यों किया गया है?

मुझे इसकी जानकारी नहीं है कि ‘ताजमहल’, ‘लाल क़िला’, ‘राष्ट्रपतिभवन’, ‘संसद् भवन’, ‘संग्रहालयों’ आदिक के प्रशासकों के पास ‘गृहकर’ की सूचना भेजी जाती है अथवा नहीं। यदि नहीं भेजी जाती है तो क्यों?

इसमें कोई दो राय नहीं कि वर्तमान सरकार नितान्त घृणित नीति का प्रतिपादन करती आ रही है।

प्रयागराज में ‘भारतीय जनता पार्टी’ के ऐसे अनेक लोग हैं, जिन पर और उनके रिश्तेदारों पर बड़ी संख्यावाली धनराशि के विद्युत्-कर, गृहकर, जलकर आदिक कर बक़ाया हैं। वहाँ तो सूचना भेजने का अथवा दण्डित करने की सामर्थ्य ‘नगर निगम’, प्रयागराज के किसी भी अधिकारी में नहीं है।

उल्लेखनीय है कि अभिलाषा नन्दी और उनके पति गोपाल नन्दी की आय को आँका जाये तो आश्चर्यजनक परिणाम प्राप्त होंगे। बहुत बड़े स्तर पर दोनों के अपने व्यावसायिक प्रतिष्ठान हैं; किन्तु करादिक के रूप में वे दोनों कितनी धनराशि का भुगतान करते हैं, इसे सार्वजनिक किया जाना चाहिए।

(सर्वाधिकार सुरक्षित : डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय, प्रयागराज; २० नवम्बर, २०१९ ईसवी)

url and counting visits