गरीबों के निवाले पर कोटेदार डाल रहा डाका, मामला उठाने वाले पत्रकार को मिल रही धमकियां

  • घटतौली कर निर्धारित मूल्य से अधिक पर बेच रहा खाद्यान्न

कछौना (हरदोई) – हरदोई जिले के विकासखंड कछौना के ग्रामीण क्षेत्रों की सार्वजनिक वितरण प्रणाली पूर्ण रूप से ध्वस्त हो चुकी है । मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों के नब्बे प्रतिशत कोटेदारों द्वारा कार्ड धारकों को समय से उनके हक का खाद्यान्न व तेल नहीं मिल पा रहा है । जहाँ मिल रहा है वहाँ भी लूट मची हुई है । आलम यह है कि सरकारी मानकों को दरकिनार कर कोटेदारो द्वारा न सिर्फ खाद्यान्न का निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य वसूला जा रहा है बल्कि खटतौली कर उनके हक पर भी डाका डाला जा रहा है ।

विकासखंड कछौना की ग्राम पंचायत गाजू के उचित दर विक्रेता की दुकान का आवंटन सुनीता देवी के नाम से है । जब कि दुकान का संचालन उसके पुत्र छोटू के द्वारा किया जाता है । ग्रामीणों द्वारा लगातार आ रही खटतौली व निर्धारित मूल्य से अधिक लिए जाने की शिकायत पर पत्रकार दीपक कुमार व सौरभ श्रीवास्तव द्वारा ग्राम गोठवा व फत्तेपुर जाकर ग्रामीणों से इस समस्या पर बातचीत की गई । जहां अधिकतर ग्रामीणों ने कोटेदार पुत्र छोटू पर निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत पर एवं खटतौली कर खाद्यान्न वितरण करने का आरोप लगाया । राशन कार्ड धारक ग्रामीणों का कहना है कि गेहूं का निर्धारित मूल्य ₹2 प्रति किलो है जबकि कोटेदार द्वारा ₹3 प्रति किलो के मूल्य से सदैव दिया जाता है । ग्रामीणों ने यह भी बताया कि कोटेदार द्वारा वितरित किए गए खाद्यान्न को घर पर तौलने पर निर्धारित मात्रा के वजन से लगभग दो किलो कम निकलता है । ग्रामीणों ने बताया कि कई बार शिकायत की जा चुकी है मगर कोटेदार को राजनैतिक व विभागीय संरक्षण प्राप्त है जिसके चलते आज तक कोई कार्यवाही नहीं हो सकी है । शिकायतों के बाद भी कार्यवाही ना होना जिम्मेदारों की भूमिका पर सवाल खड़ा कर रहा है ।

पत्रकार को मिल रही धमकियां

पत्रकारों ने उचित दर विक्रेता की दुकान पर जाकर देखा तो न कोई रेट बोर्ड और ना ही स्टाक बोर्ड लगा हुआ था । खटतौली व निर्धारित मूल्य से अधिक कीमत लिए जाने के सवाल पर कोटेदार पुत्र छोटू द्वारा पत्रकारों को बताया गया कि गोदाम से 4-5 क्विंटल राशन कम मिलता है । पत्रकारों द्वारा वीडियो बनाए जाने पर कोटेदार पुत्र द्वारा मोबाइल छीनने का प्रयास करते हुए अभद्रता की गई ।कोटेदार पुत्र द्वारा की जा रही खटतौली और खाद्यान्न के निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर बेंचकर गरीब कार्ड धारकों की जेब काटे जाने की संपूर्ण स्थिति से पूर्ति निरीक्षक को अवगत कराते हुये ग्रामीणों के वीडियो पूर्ति निरीक्षक के मोबाइल नंबर पर व्हाट्सएप कर दिये गये । जिसके परिणाम स्वरूप पत्रकारों की आवाज को दबाने के लिए देर रात तक पत्रकार दीपक कुमार के मोबाइल नंबर पर धमकी भरे फोन आते रहे । धमकी देने वाले ने अपना नाम दीपू सिंह निवासी कछौना पतसेनी बताते हुए धमकी भरे लहजे में बताया कि कोटेदार की दुकान पर समस्त पैसा वह निवेश करता है, यदि कोटेदार का नुकसान हुआ तो उसका खामियाजा तुम्हें भुगतना पड़ेगा ।

url and counting visits