सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

माल्या की गिरफ्तारी, बाद में जमानत

लंदन में स्कॉटलैंड यार्ड ने माल्या को गिरफ्तार किया, भारतीय अधिकारियों की ओर से किए गए प्रत्यर्पण के अनुरोध पर गिरफ्तारी बाद में माल्या जमानत पर रिहा हो गए ।देश के कई बड़े बैंकों से लिए गए 9,000 करोड़ रुपये के कर्ज को न चुका पाने के बाद करीब साल भर पहले विदेश भाग गए शराब कारोबारी विजय माल्या पर आखिकार शिकंजा कस गया है। केंद्र सरकार की लगातार कोशिशें रंग लायी और मंगलवार सुबह लंदन में स्कॉटलैंड यार्ड ने मालया को गिरफ्तार कर लिया। स्कॉटलैंड यार्ड के बयान जारी कर कहा मेट्रोपॉलिटन पुलिस की प्रत्यर्पण इकाई ने आज सुबह प्रत्यर्पण वारंट पर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। विजय माल्या को धोखाधड़ी के आरोपों में भारतीय अधिकारियों की ओर से किए गए प्रत्यर्पण के अनुरोध पर गिरफ्तार किया गया।
एसबीआई समेत 17 बैंको ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी देकर माल्या को विदेश जाने से रोकने के लिए आदेश देने को कहा था लेकिन सरकार की ओर से बताया गया कि माल्या पहले ही विदेश जा चुके हैं । इसके बाद देश में माल्या के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरु हुई । कोर्ट ने बैंकों के एक समूह को रिण वसूली की प्रक्रिया शुरू करने का आदेश दिया था । भारत सरकार ने विजय माल्या का पासपोर्ट भी रद्द करदिया और कोर्ट से उसे भगोडा भी घोषित किया जा चुका है । देश की कई अदालतों से उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया जा चुका है । कानून के जानकारों की मानें तो ये माल्या के प्रत्यर्पण की दिशा में पहला कदम है जानकारों के मुताबिक ब्रिटेन यह तय करने के लिए एक कानूनी प्रक्रिया होगी कि क्या मालाया को भारतीय अदालतों में आरोपों का सामना करने के लिए प्रत्यर्पित किया जा सकता है । फिलहाल ब्रिटेन मे माल्या के खिलाफ कानूनी प्रक्रिया शुरु हो चुकी है । भले ही इसमें समय लगे लेकिन एक बात तो तय है कि वो दिन दूर नहीं जब माल्या भारतीय कानून के शिकंजे में होगा और शायद उसको लंबा समय जेल में भी बिताना पड़े।