दहेज रहित विवाह करके दिया समाज को संदेश, समाजसेवियों ने की मदद

         जहां एक ओर फैशन और दिखावे ने शादियों को खर्चीली बना दिया है तो वही कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सादगीपूर्ण शादी करके मिशाल पेश कर रहें है। शनिवार को मोहल्ला भाटनटोला स्थित दहेज रहित विवाह शिष्ट मित्र मण्डल के सहयोग से सम्पन्न हुआ।
            लगातार शादियों में बढ़ रही फैशन परस्ती को देखकर गरीब बाप के सामने अब बेटी के हाथ पीले करने में दिक्कतें आने लगीं हैं,लेकिन शनिवार को मंशानाथ मंदिर दहेज रहित शादी का गवाह बना। नारीखेड़ा गांव निवासी अजित त्रिपाठी ने खीरी जिले के उचौलिया चौकी क्षेत्र के पनई गांव निवासी कुसुमा पाण्डेय के साथ शिव मंदिर में सात फेरे लिए। समस्त कार्यक्रम गायत्री परिवार के विधान से टोली नायक प्रियांक दीक्षित ने सम्पन्न कराए। कुसुमा के विकलांग भाई रामनिवास ने कन्यादान करते हुए कहा कि आज जरूरत है कि लोग दहेज रहित विवाह को बढ़ावा दें जिससे कभी भी किसी को अपनी बेटी ब्याहने के लिए दर-दर नही भटकना पड़ेगा। कार्यक्रम स्थल पर भारी संख्या मे पहुँचे लोगों ने भी नवदम्पति के मंगलमय जीवन की कामना करते हुए आशीर्वाद दिया। शिष्ट मित्र मण्डल की ओर से नवदंपति को गृहस्थी का सामान उपहार स्वरूप भेंट किया गया और दोनो पक्षों के भोजन आदि की भी व्यवस्था की गई। इस शादी में कानपुर के  परिहार दंपति ने भी सराहनीय योगदान किया।अजय दीक्षित, विपुल मिश्र, रामलखन सविता, अरविंद राठौर, अनिल राठौर, राजू गुप्ता, प्रदीप त्रिपाठी, प्रदीप राठौर आदि मौजूद रहे।
url and counting visits