साहब उसने मेरी बहन की इज्ज़त खराब कर दी इसलिए मार दिया

कोतवाली देहात इलाके में दिनदहाड़े बहन से फोन पर बात करते देख कर दिया दोस्त का कत्ल

             हरदोई– दोस्ती एक ऐसा रिश्ता होता है जो अगर मज़बूत हो तो खून के रिश्ते से भी बढ़कर होता है। भगवान कृष्ण और उनके मित्र सुदामा की मित्रता ने दोस्ती के रिश्ते को एक पहचान दी। इंसान अपने उस करीबी दोस्त से हर वह बात कर पाता है जो बात वह अपने घर के लोगों से भी नहीं कह सकता है। विश्वास के मजबूत आधार पर कायम इस रिश्ते में अगर दरार पड़ जाए तो हालात कितने दर्दनाक हो सकते हैं इसका खुलासा हरदोई पुलिस ने किया है जिसमें दोस्त को धोखा देना एक युवक को महंगा पड़ गया और जिस दोस्त के साथ वह बीते कई वर्षों से काम करता था उसके घर रहता था उसी के साथ खाना खाता था उसी दोस्त ने उसकी गला काटकर हत्या कर दी। जो दोस्त एक भाई से भी बढ़कर था उस दोस्त का इतना बेरहमी से कत्ल करने के पीछे जो वजह सामने आई वह और भी शर्मनाक थी। दरअस्ल एक दोस्त ने दोस्ती का गला घोंटकर दूसरे दोस्त का बेरहमी से कत्ल कर दिया   दोस्त ने दोस्त की बहन पर ही बुरी नजर डाल कर इस वारदात की पटकथा खुद ही तैयार कर दी ।
               दोस्ती के रिश्ते को शर्मसार करने वाली यह वारदात है कोतवाली देहात इलाके की। जहां पर रहने वाले मुकेश कुमार यादव निवासी रद्देपुरवा रोड नखासा बाजार पिहानी चुंगी कोतवाली देहात और वसीम पुत्र रहीश निवासी खगेश्वरपुरवा कोतवाली शहर बेहद अजीज दोस्त थे। इनकी दोस्ती की मिसाल गांव वाले भी देते थे। बीते कई वर्षों से दोनों एक साथ ही काम करते थे। दिनभर साथ काम करते थे और शाम ढले एक साथ खाना खाते थे। दोस्ती इतनी ज्यादा गहरी थी कि दोनों के परिवारों को कभी ना कोई शक हुआ ना ही कोई एतराज। लेकिन गंगा के पानी की तरह इस पवित्र रिश्ते में नाजायज़ संबंधों ने गंदगी पैदा करने का काम किया। घर में आने जाने के दौरान मुकेश कुमार यादव की नजरें अपने भाई जैसे दोस्त वसीम की बहन से चार हो गई कहते हैं इश्क और मुश्क छुपाए नहीं छुपता और कुछ ऐसा ही इस कहानी में भी हुआ। इतनी कड़वी हकीकत सामने आने के बाद वसीम ने वह कदम उठाया जिसने दो परिवारों की खुशियों को आग लगा दी।
                मुकेश कुमार यादव की हत्या शुक्रवार को दिन में हरिश्चन्द्र की बगिया में जुआ खेलने के दौरान चाकू से गला रेत कर दी गयी थी। भाई ज्ञानेंद्र ने इस मामले में 8 लोगों को नामजद करते हुए एफआईआर दर्ज कराई थी।लेकिन पुलिस ने महज चौबीस घंटे में मामले का खुलासा करते हुए वसीम को गिरफ्तार कर लिया और उसके पास से आलाकत्ल चाकू खून से लथपथ शर्ट और सिम मोबाइल भी बरामद कर लिया। एसपी विपिन कुमार मिश्र ने बताया कि बहन से मुकेश को बात करते देखकर उसका खून खौल उठा और उसने हत्या का प्लान बना दिया। एसपी ने बताया कि पहले वसीम ने धोखे से मुकेश को बुलाया फिर चाकू से गला रेत दिया और जैसे ही मुकेश भगा तो उसके ऊपर चाकू से कई वार कर दिए। एसपी के अनुसार पुलिस ने जब वसीम को गिरफ्तार किया तब उसने पूरी कहानी पुलिस के सामने सुना कर अपनी अपना जुर्म कबूल कर लिया। खुलासा करने वाले इंस्पेक्टर कोतवाली देहात राकेश चंद्र आनन्द व उनकी टीम को एसपी ने इनाम देने का एलान किया है। इस दौरान एएसपी ज्ञानंजय सिंह सीओ सिटी विजय सिंह राणा भी मौजूद रहे ।
url and counting visits