कोई भी शहरी गरीब सड़क या खुले स्थान पर सोने के लिए न हो मज़बूर

प्रमुख सचिव नगर विकास श्री मनोज कुमार सिंह ने बताया कि कड़ाके की ठंड से गरीबों को बचाने के लिए पूरे प्रदेश में सभी सुविधाओं से युक्त शेल्टर होम स्थापित किए गए हैं, जिसमें कल 10 जनवरी को 1994 शहरी गरीबों ने शेल्टर होम की सुविधाओं का लाभ उठाया । उन्होंने बताया कि राज्य सरकार का यह प्रयास है कि कोई भी शहरी गरीब सड़क, खुले स्थान एवं फुटपाथ पर सोने के लिए मजबूर न हो ।

श्री मनोज कुमार सिंह ने बताया कि विगत 18 दिसबंर, 2017 से कल तक कुल 369 आश्रय गृह में कुल 31729 शहरी गरीबों ने लाभ उठाया । विगत 21, 23 एवं 26 दिसम्बर, 2017 को प्रदेश के 66 जनपदों की 188 नागर निकायों में रैपिड सर्वे कराकर 21852 बेघरों को चिन्हित किया गया था । सर्दी के मौसम से बचाने के लिए पूरे प्रदेश भर में कंबल, गद्दा, रजाई, चारपाई की व्यवस्था के साथ ही अलाव का भी इंतजाम किया गया है । प्रमुख सचिव ने बताया कि प्रदेश में कुल 169 स्थायी शेल्टर होम तथा 200 अस्थायी शेल्टर होम में शहरी गरीबों के रूकने की समुचित व्यवस्था की गई है । अब तक 348 शेल्टर होम में शहरी गरीबों ने आश्रय लिया । उन्होंने गरीबों से यह अपील भी की है कि सरकार द्वारा संचालित शेल्टर होम का उपयोग करें और किसी भी दशा में खुले स्थान पर न सोएं । श्री सिंह ने यह भी बताया कि शेल्टर होम में रूकने के लिए अन्य सुविधाओं के साथ किचन, आलमारी, स्नान घर, ठंड से बचाव के लिए अलाव तथा अन्य जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है । परिवारों के लिए अलग से कक्ष उपलब्ध है और किचन में खाने-बनाने की भी सुविधा उपलब्ध है ।

url and counting visits