14 लाख की जहरीली शराब के साथ ब्लाक प्रमुख के पति के बड़े भाई गिरफ्तार

  • शराब माफ़िया डब्लू गुप्ता सहित 2 पहुंचे सलाखों के पीछे ।
  • 2 फ़रार ।
  • पुलिस टीम और स्वाट ने कल ही माफ़िया को उठा लिया था लेकिन खुलासा किया आज ।
  • इससे पहले पिहानी के शराब माफ़िया जेपी गुप्ता, साण्डी के राम जी गुप्ता और सेमरा चौराहा के सुभाष पाल भेजे जा चुके हैं जेल ।

                  अवैध शराब के कारोबार पर खाकी का वज्रापात जारी है। ताज़ा घटनाक्रम में शराब माफ़िया (शाहाबाद ब्लॉक प्रमुख के ज्येष्ठ) नलिन गुप्ता ‘डब्लू’ सहित 02 को पुलिस ने जेल भेज दिया। इनके पास से भारी मात्रा में एल्कोहल, रैपर आदि सामान बरामद किया गया है। माफिया के पास से करीब 14 लाख कीमत की कैमिकलयुक्त शराब मिली है।
                  एसपी विपिन कुमार मिश्र के मुताबिक थाना बेहटागोकुल पुलिस और स्वाट टीम ने सुबह तड़के शराब माफ़िया डब्लू गुप्ता और मानपुर निवासी सर्वेश सिंह को मुखबिर की निशानदेही पर सकाहा गांव के पास से गिरफ्तार कर लिया। दो अभियुक्त बेहटा गोकुल थाना क्षेत्र के रसूलापुर गांव निवासी विनोद पाल और अनुराग सिंह अंधेरे का फ़ायदा उठा फ़रार हो गए। पुलिस अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने पुलिस लाइन्स सभागार में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि शराब माफ़िया की पकड़ी गई वैगन आर UP-30 R 5282 से अरुणाचल प्रदेश की शराब के पौव्वे, नकली शराब बनाने के कैमिकल्स, बड़ी मात्रा में खाली शीशियां व ढक्कन और विभिन्न ब्राण्ड की शराब के रैपर बरामद हुए।
                  बताया पूरी कार्यवाही एएसपी (पश्चिमी) निधि सोनकर और हरियावां सीओ ममता कुरील की निगरानी में हुई। चारों अभियुक्तों के विरुद्ध उत्पाद शुल्क और आबकारी अधिनियम के तहत विभिन्न धाराओं में थाना बेहटा गोकुल में मुक़दमा दर्ज किया है। गिरफ़्तारी करने वाली टीम में बेहटा गोकुल एसओ अनुराग मिश्रा, एसआई अरुणेश गुप्ता, स्वाट टीम और आबकारी विभाग की टीम शामिल रही। बता दें, डब्लू गुप्ता शाहाबाद की ब्लॉक प्रमुख के ज्येष्ठ (जेठ) हैं और सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद भाजपा से गलबहियां कर रहे थे।
                   इससे पहले शराब माफ़िया जेपी गुप्ता (पिहानी के पूर्व ब्लॉक प्रमुख व मौजूदा प्रमुख सरिता गुप्ता के पति) अपने दो बेटों के साथ अवैध शराब के कारोबार में जेल गए थे। अभी जेपी जमानत पर है। जेपी के बाद साण्डी की पूर्व पालिकाध्यक्ष के पति राम जी गुप्ता पर अवैध/नकली शराब के कारोबार के आरोप में बिलग्राम पुलिस ने मामला दर्ज किया था। राम जी हाईकोर्ट से अरेस्ट स्टे ले आए थे। निकाय चुनाव में उनकी पत्नी को भाजपा ने सिम्बल नहीं दिया, तो निर्दलीय लड़ीं और हार गईं। चुनाव बाद पुलिस ने राम जी को जेल भेज दिया। उसके बाद नम्बर लगा बिलग्राम-मल्लावां विधानसभा क्षेत्र से सपा प्रत्याशी रहे सुभाष पाल का। अवैध/नकली शराब के कारोबार के मामले में पुलिस ने सुभाष को पिछले दिनों जेल भेजा है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Solve : *
12 + 25 =


url and counting visits