नारायण बालिका महाविद्यालय में आयोजित दंगल का शुभारंभ प्रबंधक श्री कृष्ण पहलवान (गुरुजी) ने फीता काटकर किया

बावन हरदोई

सुखी एवं स्वस्थ जीवन के तीन मन्त्र शुद्ध हवा में घूमना, शुद्ध मिट्टी में खेलना और नियमित व्यायाम करना है। उक्त बातें शुक्रवार को मौके पर चल रही एक दिवसीय कुश्ती दंगल प्रतियोगिता के अंत में श्री कृष्ण पहलवान गुरुजी ने कही।। उन्होंने रोगमुक्त एवं आनंदित जीवन के मन्त्रों पर विस्तार से चर्चा भी की ।


इधर, दंगल के दाँव-पेंच का आरम्भ होते ही शाहाबाद के जवान गोलू पहलवान ने चुनौती देने वाले बिक्की बरेली को कुछ क्षणों तक चली कांटे टक्कर के बाद पासा पलटते ही लगातार धोबिया पछाड़ देते हुए जमकर दर्शकों की तालियां बटोरी। इतना ही नहीं बाद में भी बजरंगी पहलवान मथुरा के, टाइगर पहलवान और अजमेर के बहुचर्चित मोहम्मद अली पहलवान ने एक के बाद एक पहलवानों को पटकनी देते हुए जीत का झंडा लहराकर दर्शकों के दिलों गहरी छाप छोड़ी।
अंतिम कुश्ती नवाब पहलवानऔर तूफान पहलवान घमंडपुर के बीच हुई जिसमे नवाब पहलवान कलियर शरीफ विजयी हुये । दंगल मे दूरदराज से आये पहलवानों ने अपने दांव पेंच आजमाये । गोरखपुर, मथुरा, दिल्ली, हरदोई, पंजाब, सहित कई स्थानों के पहलवानों ने दाव पेंच आजमाकर  दर्शकों को रोमांचित कर दिया । कुश्ती में जीतने वाले विजेताओं को मंच पर सम्मानित किया गया और उचित इनाम भी दिया गया।

कुश्ती के शौकीन दर्शक दंगल देखने दूर दूर से यहां आते हैैं । इस दंगल में पांच हजार रुपये से लेकर इक्यावन हजार रुपये तक की कुश्ती कराई जाती है। एक दिवसीय इस दंंगल में भाग लेने के लिए अलग अलग राज्यों से कुश्ती लड़ने के लिए बहुत से पहलवान पहुंचे और दंगल में हिस्सा लिया।

इस मौके पर नाजिम खां प्रधान निजामपुर ,मास्टर शैलेन्द्र सिंह, शरद सिंह, संदीप शुक्ला, जितेंदर सिंह, शिवेंद्र शुक्ला (छून्ना),अवनीश मिश्रा, निशीत शुक्ला, महेन्द्र कुशवाहा,पप्पू मिश्रा, इंस्पेक्टर सियागंज मुरारी आदि सम्मानित लोग मौजूद रहे ।


……सचिनशुक्ला / रामवीर यादव, पत्रकार बावन