कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

दिहाड़ी मजदूरों को बड़ी राहत, हर महीना एक हजार रुपये देगी योगी सरकार

  • कोविड-19 की दूसरी लहर में लॉकडाउन के चलते बड़ा ऐलान
  • कोरोना वायरस से प्रभावित हो रहे रोजगार को देखते दिहाड़ी मजदूरों को बड़ी राहत

कछौना, हरदोई: कोरोना संक्रमण के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए प्रदेश सरकार ने शहरी एवं ग्रामीण गरीबों को एक-एक हजार रुपये भरण पोषण देने का प्रावधान किया है। इनका चयन करने के लिए सरकार ने जिलाधिकारी की अध्यक्षता में 8 सदस्य समितियों का गठन किया है। यह समितियां लाभार्थियों को चिन्हित करके उनका विवरण राहत आयुक्त कार्यालय की वेबसाइट पर फीड करेंगे। फीड करने, डाटा सत्यापन करने के बाद इनको प्रमाण पत्र देना होगा। इसके लिए सरकार ने 15 दिन का समय दिया है। ऐसे में 15 जून के बाद ही चयनित लाभार्थियों को भरण-पोषण भत्ता मिलने की उम्मीद है।

कोरोना संक्रमण के कारण सरकार ने पटरी दुकानदार, ठेला चालकों, खुमचा लगाने वाले, खोखा लगाने वाले, मजदूर, रिक्शा चालक, धोबी, नाई, पल्लेदार, मोची, हलवाई आदि रोज कमा कर खाने वालों को ₹1000 देने का निर्णय लिया है। गरीब और जरूरतमंदों को निशुल्क 3 माह तक मिलने वाला राशन/धनराशि अलग होगी। जिसके लिए लाभार्थी अपने बैंक की खाता संख्या, मोबाइल नंबर, पहचान पत्र अपने संबंधित अधिकारी के पास जमा कर दें। जिससे लाभार्थियों के खाते में सीधे धनराशि पहुंच सके। उक्त निर्देश मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने दिया है।

रिपोर्ट – पी०डी० गुप्ता