मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

एक उम्दा पहल : ऑनलाइन संगीत स्वराग कार्यक्रम

(शाश्वत तिवारी)

देशव्यापी लोकडाउन के कारण व्यथित एवं  निराश  जनमानस में मनोरंजन एवं सकारात्मकता के संचार के लिए एक ऑनलाइन संगीत स्वराग कार्यक्रम की शुरुआत हाम्रो स्वाभिमान संस्था, नई दिल्ली ने की है।

ZOOM एप में आयोजित स्वराग संगीत सभा में भारत एवम नेपाल के अनेक  गायक, संगीतकारों, संगीतनिर्देशकों और कलाकारों ने मनमोहक प्रस्तुतियां दी। प्रख्यात फ़िल्म प्रोड्यूसर एवम निर्देशक राजेश घतानी, सुप्रसिद्ध संगीत निर्देशक राहुल कालीकोटे, सुख्यात गायिका डोमा शेर्पा, दक्षता गुरूंग, गायक निकेश कालिकोटे, अनमोल सेंचुरी, रोशन गौतम, संदीप सुब्बा जैसे भारत और नेपाल के जानेमाने कलाकारों ने अत्यन्त हृदयहारी प्रस्तुतियों से उपस्थित श्रोताओं और दर्शकों का मन मोह लिया।

श्रोताओं ने इस  कार्यक्रम में लगातार नवोदित कलाकारों की हौसला अफजाई के लिए उनकी प्रस्तुतियों की दाद दी। हाम्रो स्वाभिमान ट्रस्ट की राष्ट्रीय संयोजिका एवं स्वराग कार्यक्रम की प्रणेता अनीता क्षेत्री ने कहा कि युवा एवं नवोदित कलाकारों के प्रतिभा को साप्ताहिक रविवासरीय संगीत आयोजन स्वराग-संगितिक कार्यक्रम के माध्यम से जन जन तक पहुचाने का कार्य हाम्रो स्वाभिमान संस्था द्वारा लोकडाउन के इस विषम परिस्थिति में भी निरन्तर जारी है। ध्यानास्पद है कि संस्था द्वारा कोरोना काल में देश-विदेश के कलाकारों को ऑनलाइन फेसबुक, जूम मीट आदि अंतराष्ट्रीय मंचों के माध्यम से कार्यक्रम प्रस्तुति हेतु अवसर दिया जा रहा है। हाम्रो स्वाभिमान संस्था प्राचीन-भारतीय-संस्कृति सभ्यता, धर्म, परम्परा, शिक्षा, सेवा तथा सांगीतिक परम्पराओं के संरक्षण एवं प्रचार प्रसार के लिए निरन्तर कार्य कर रही है। गौरतलब है कि यह समस्त जनसेवा का कार्य हाम्रो स्वाभिमान संस्था के महामन्त्री, प्रसिद्ध अधिवक्ता, एवं लोकप्रिय समाजसेवी प्रेमक्षेत्री जी के दिशा निर्देश एवं नेतृत्व में प्रतिवर्ष आयोजित किया जाता है।

इस कार्यक्रम की शुरुआत जीवन शर्मा-केंद्रीय सचिव हाम्रो स्वाभिमान ट्रस्ट के करकमल से दीप प्रज्वलन के साथ हुआ ।
इस कार्यक्रम को सफल बनाने के किए हाम्रो स्वाभिमान ट्रस्ट के केंद्रीय समिति के कार्यकर्ताओं जिसमे नारायण श्रेस्ठा, नारायण शर्मा, शिबलाल ज्ञँवली, युवराज भट्टराई, रूबिन गुरुंग, अनिता ज्ञँवली, कमला शर्मा, मीना पाण्डेय, कविता शर्मा, बीना शर्मा, नेओमि खाती, पेट्रीसिया गुरुंग, कल्पना आदि ने अथक मेहनत किया है जिसके परिणाम स्वरूप ये कार्यक्रम युवाओं में चर्चा का विषय बना हुआ है।