डेंगू की आशंका हो तो मरीज को सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र या जिला चिकित्सालय में कराएं भर्ती :- जिलाधिकारी

डेंगू का प्रकोप बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों में अधिक होता है – पुलकित खरे

डेंगू से बचाव के सम्बन्ध में जिलाधिकारी पुलकित खरे ने मीडिया के माध्यम से जनपद वासियों से को जागरूक किया । श्री खरे ने कहा कि डेंगू मादा एडीज मच्छर के काटने से होता है और इससे चीते जैसी धारियां होती है । यह दिन में खासकर सुबह के समय काटता है । अगर रात में रोशनी जल रही हो तब भी ये मच्छर काट लेता है। डेंगू का प्रकोप बरसात के मौसम और उसके फौरन बाद के महीनों में अधिक होता है, क्योकि इस समय मच्छरों के पनपने के लिए यही सबसे अच्छा समय होता है । एडीज मच्छर अधिक ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता है और इसकी पहुंच मात्र घुटनों के नीचे ही रहती है।

उन्होने बताया कि डेंगू मच्छर गंदी नालियों में नहीं बल्कि साफ सुथरे पानी में पनपते है और साफ सुथरे शहरी इलाकों में रहने वाले लोगों को इसका अधिक खतरा रहता है तथा एडीज मच्छर के काटने पर करीब तीन से पांच दिनों के बाद में डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई देने लगते है।

जिलाधिकारी ने जनपद वासियों से कहा है कि डेंगू बुखार होेने पर ठंड लगने के बाद अचानक तेज बुखार चढ़ना, सिर, मांसपेसियों और जोड़ों में दर्द होना, आखों के पिछले हिस्से में दर्द, आंख को दबाने या हिलाने से दर्द बढ़ जाना, कमजोरी, भूख न लगना, जी मितलाना, मुंह का स्वाद खराब होना आदि होने लगता हैं। उन्होने कहा है कि इसके बचाव के लिए मच्छर प्रतिरोधक का इस्तेमाल करे, पूरी बाजे की कमीज और पायजामा या पैंट पहने, खिड़कियों पर पर्द लगवायें, घर में पानी जमा न होने दें और विशेष साफ सफाई रखे, फूलदानों में पानी जमा न होने दें, मच्छरदानी का प्रयोग करे और खाने-पीने वाली वस्तुओं को ढक कर रखें।

उन्होने जनपद वासियों से अपील की है कि डेंगू के लक्षण मिलते ही मरीज को निकटवर्ती सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र अथवा जिला चिकित्सालय में भर्ती कराये और जिला चिकित्सालय में डेंगू की जाचं करायें और इस संबंध में किसी प्रकार की समस्या अथवा परेशानी होने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी के मोबाइल नम्बर 8005192662 तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के मोबाइल नम्बर 8005192784 पर सम्पर्क करें।

इससे पहले जिलाधिकारी, नगर मजिस्ट्रेट गजेन्द्र कुमार एवं अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद श्री शुक्ला ने नगर वासियों को डेंगू मच्छर के काटने से होने वाले लक्षण एवं बचाव के सम्बन्ध में प्रचार प्रसार के माध्यम से जागरूक करने हेतु लगाये गये आटो रिक्शा को कलेक्ट्रेट परिसर से हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

url and counting visits