हे राम! देखिए कहाँ… माँ ने जीवित नवजात को फेंका

नेवादा विकासखंड के धारूपुर में भ्रष्टाचार का बोलबाला

Corruption Feature IV24

कौशाम्बी। कौशांबी जिले की नेवादा विकासखंड के धारूपुर में दबंग ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी पर गांव में हुए करोड़ों रुपए के सरकारी धन का गमन करने का मामला प्रकाश में आया है।

ग्रामीणों का आरोप है सेक्रेटरी की संलिप्तता के चलते दबंग प्रधान ने नाली, सड़क, शौचालय, गरीबों को आवास जैसी मूलभूत योजनाओं से ग्रामीणों को वंचित रखा है। गांव के विकास कार्यों को पूरा करने के लिए बीते पांच साल में करोड़ों रुपए आए लेकिन गांव के शातिर प्रधान ने जिले के अधिकारियों से सांठ गांठ कर कोई नया काम नहीं करवाया। सैकड़ों ग्रामीणों ने बीते दो माह पहले डी एम कौशांबी से मिलकर प्रधान व सेक्रेटरी के विरुद्ध लिखित शिकायत भी दर्ज कराया। लेकिन जांचकर्ता कृष्ण कुमार सहायक अभियंता पेंसिल से लिखा जांच पत्र लेकर 03 नवंबर को गांव आए थे। जांचकर्ता के विरुद्ध ग्राम प्रधान ने अपने गुर्गों को दारू पिलाकर हंगामा करवा दिया। जिसके बाद वे बिना जांच किए वापस चले गए।

समाज सेवी राघवेंद्र ने जांच अधिकारी से जांच की प्रगति रिपोर्ट मांगी तो उन्होने देने से इंकार कर दिया।
राघवेंद्र के मुताबिक आर टी आई की सरकारी शुल्क 10040 रुपए जमा भी किया गया। लेकिन सेक्रेटरी तथा दबंग प्रधान ने पांच साल तक का कोई गांव में हुए करोड़ों रुपए गमन का हिसाब जनता को नहीं दिया गया। जिससे ग्रामीणों में जिले के सक्षम अधिकारियों की कार्यशैली से घोर आक्रोश व्याप्त है।

कौशाम्बी से एम डी मौर्य की रिपोर्ट

url and counting visits