Exclusive coverage of IV24 : प्रतापगढ़ डीएसपी (CO) की अवनीश मिश्र से विशेष वार्त्ता

मैं दीप हूँ

डॉ. राजेश पुरोहित

मैं दीप हूँ जलता रहूँगा
राहें रोशन करता रहूँगा
रात के गहन तमस को
मैं पल पल हरता रहूँगा

लोग बैठे जो रोशनी में
उन्हें उजाले देता रहूँगा
प्यार बाँटता आया हूँ
प्यार ही बाँटता रहूँगा

मेरे तले का अंधेरा भी
उजाले की आस करता
दीप हूँ सब दिशाओं को
मैं रोशन करता रहूँगा

पतंगे आकर पास मेरे
कितने ही जान दे देते
कसूर मेरा नही इसमें
उन्हें यह कहता रहूँगा

url and counting visits