सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

कविता : बदलाव

हालात मत पूछिए
बदलते रहते हैं।
समय मत पूछिए
गुजरता रहता है।
मोहब्बत मत कीजिए
होती रहती है।
दिल्लगी मत कीजिए
दिलदार औरो से भी
दिल लगाते रहते हैं।
परिस्थिति मत देखिए
स्थिति बदलती रहती है।
हमसफर जल्दी
मत बनाइए
हमराही बदलते रहते हैं।

राजीव डोगरा (भाषा अध्यापक)
राजकीय उत्कृष्ट वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय
गाहलिया, पता-गांव जनयानकड़
पिन कोड -176038, कांगड़ा हिमाचल प्रदेश