संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

मेरी पहचान हैं, मेरे पापा

मेरी पहचान हैं,
मेरे पापा।
मेरी हर खुशी हैं ,
मेरे पापा।
मेरी जान हैं
मेरे पापा।
मेरा हौसला हैं ,
मेरे पापा।
मेरा जनून हैं,
मेरे पापा।
मेरी मुसकान हैं ,
मेरे पापा।
मेरा सुख हैं,
मेरे पापा।

कवयित्री संजना

संजना (11वीं कक्षा की छात्रा)
कांगड़ा हिमाचल प्रदेश।