कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

कुएँ में गिरी मासूम की जान बचाकर टेवा चौकी प्रभारी इन्द्रकांत यादव ने मानवता की मिसाल की पेश

कौशांबी। वैसे पुलिस वालों की जनता की रक्षा करना उनका फर्ज बनता है। लेकिन कुछ ऐसे भी कार्य है जिन्हें जनता को बताना जरूरी होता है। अच्छे कार्यो के लिए सदैव मैदान में कूदने वाले टेवा चौकी प्रभारी एस०आई० इन्द्रकांत यादव ने कुएं में गिरी मासूम बच्ची का जान बचाकर मानवता की मिसाल पेश की है।

बताते चले कि मंझनपुर सदर कोतवाली के कौशाम्बी कलेक्ट्रेट के पीछे घना का पुरवा गाँव है। बबुरा गाँव निवासिनी रंजना अपने दो वर्षीय मासूम बच्ची को लेकर घना का पुरवा कलेक्टरेट के पीछे घास काटने के लिये गई थी। वही पर एक कुआ है। मासूम बच्ची कुए में गिर गई और कुएं में सरिया लगा होने के कारण मासूम के कपड़े सरिया में फंसने के कारण बच्ची लटक गई।

बच्ची के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुन ग्रामीण कुएं की तरफ दौड़ पड़े। ग्रामीणों की सूचना पर चौकी प्रभारी इंद्रकांत यादव फोर्स के साथ मौके पर पहुंच ग्रामीणों के मदद से मासूम बच्ची की जान बचाई। इतना ही नहीं चौकी प्रभारी ने बच्ची के फटे हुए कपड़े को बदल कर नए कपड़े मंगवाकर बच्ची को पहनाये। मासूम बच्ची को माता रंजना और पिता राकेश पटेल के सुपुर्द किया गया।

बच्ची को पाकर माता पिता ने चौकी प्रभारी और स्टाफ को धन्यवाद दिया और क्षेत्र की जनता ने चौकी प्रभारी की खूब तारीफ की।