सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

4000 करोड़ रूपये की विकास योजनाओं की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की

झारखंड देश के तेजी से बढ़ते राज्यों में से एक है। राज्य की सालाना विकास दर लगभग 12 फीसदी है। झारखंड के विकास को गुरुवार को नए पंख मिल गए। जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य के लिए 4000 करोड़ रूपये की विकास योजनाओं की शुरूआत की। पीएम ने राज्य को जिन परियोजनाओं की सौगात दी उनमें दो हजार करोड़ की लागत से साहिबगंज में गंगा नदी पर फोर लेन पुल का शिलान्यास, 311 कि.मी. लम्बे गोविंदपुर जामताड़ा-दुमका-साहिबगंज हाईवे का लोकार्पण, साहिबगंज में गंगा नदी पर बंदरगाह का शिलान्यास, डेयरी प्रोजेक्ट की शुरुआत, 956 नव नियुक्त पहाड़िया विशेष बटालियन के आरक्षियों के बीच प्रमाण पत्र का वितरण, लेस कैश झारखंड के लिए सखी मंडल महिला उद्यमियों के बीच 1 लाख स्मार्ट फोन का वितरण, साहिबगंज जिला न्यायालय परिसर में 90 KWP एवं सदर अस्पताल साहिबगंज में 70 KWP सौर ऊर्जा यूनिट का लोकार्पण शामिल है।
पीएम ने इस मौके पर कहा कि इन परियोजनाओं के बाद अब झारखंड का विकास होने से कोई रोक नहीं सकेगा। उन्होंने कहा कि पूरे संथाल परगना का अगर भला करना है तो गरीब आदिवासी और पिछड़ों के जीवन में बदलाव लाना है तो विकास ही एक मात्र रास्ता है। उन्होंने गंगा नदी पर जिस मल्टी मॉडल टर्मिनल या बंदरगाह की आधारशिला रखी है वो वाराणसी और हल्दिया के बीच प्रस्तावित राष्ट्रीय जलमार्ग -1 का एक अहम हिस्सा है जो कि जलमार्ग विकास की मोदी सरकार की महात्वाकांक्षी और अपनी तरह की पहली योजना है। इस अत्याधुनिक टर्मिनल में माल चढ़ाने उतारने की सालाना क्षमता 22.4 लाख टन होगी। इससे न केवल व्यापार और रोजगार के अवसर पैदा होंगे बल्कि झारखंड सीधे दुनिया से जुड़ जाएगा।प्रधानमंत्री ने पहाड़िया विशेष भारत रिजर्व बटालियन के कांस्टेबलों को नियुक्ति प्रमाण पत्र बांटने के बाद इस समाज की लड़कियों के विकास के लिए राज्य सरकार की तारीफ की और कहा कि यही उनकी न्यू इंडिया की अवधारणा है। दरअसल, पहाड़िया समुदाय आदिवासियों से भी गरीब तबके का है। इनकी शारीरिक बनावट और शिक्षा के चलते झारखंड सरकार ने इनके लिए नियम बदले और इन्हें जनता की सुरक्षा की जिम्मेदारी दी। पीएम ने फिर दुहराया कि भ्रष्टाचार को वो किसी हाल में बर्दाश्त नहीं करेंगे। झारखंड में रघुवर दास की अगुवाई में राज्य तेजी से तरक्की कर रहा है। अगर आंकडों की बात करें तो झारखंड की विकास दर 12 फीसदी से ऊपर है जो तमाम बड़े राज्यों से काफी आगे हैं और देश में सबसे तेजी से बढती अर्थव्यवस्थाओं में एक है। विदेशी निवेश के मामले में झाऱखंड देश में पांचवे नंबर पर है। पिछले दो सालों में झारखंड श्रम सुधारों में नंबर एक पर है। झारखंड सरकार राज्य को विकास पथ पर आगे बढाने के लिए तेजी से काम कर रही है तो पीएम ने भी साफ कर दिया कि उनकी सरकार राज्य में विकास के नए द्रार खोलने में पीछे नहीं रहेगी।