संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

सरकार अपना अहंकार छोड़ किसानों से माफी मांगे : प्रियंका गांधी

सिद्धान्त सिंह :

लखीमपुर में हुए नरसंहार में मृतक किसानों के परिवारों को इंसाफ दिलाने के लिए कांग्रेस के देश व्यापी मौन व्रत धरने में शामिल हुईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी l प्रियंका गांधी का कहना है कि केंद्रीय गृहराज्य मंत्री के पद पर रहते पीड़ित परिवारों को इंसाफ नहीं मिल सकता, केंद्रीय गृह राज्यमंत्री की बर्खास्तगी तक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के बताये सत्याग्रह की लड़ाई जारी रहेगी l प्रियंका गांधी का कहना है कि किसानों के हत्यारों को भाजपा सरकार बचा रही है, वहीं सरकार अपना अहंकार छोड़ किसानों से माफी मांगे ।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस मीडिया संयोजक/प्रवक्ता अशोक सिंह ने बताया कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के आहवान पर देशव्यापी विरोध प्रदर्शन स्वरूप मौन व्रत के क्रम में आज लखनऊ स्थित हजरतगंज में गांधी प्रतिमा (जी.पी.ओ) पर भारतीय कांग्रेस की महासचिव और प्रभारी उत्तर प्रदेश श्रीमती प्रियंका गांधी शामिल हुईं और मौन रखकर लखीमपुर में हुए किसानों के नरसंहार में शहीद हुए किसान परिवारों को न्याय दिलाने व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी की मंत्रीमंडल से बर्खास्तगी की मांग की। मौन व्रत के बाद श्रीमती प्रियंका गांधी जी ने कहा कि लखीमपुर में काले कानूनों के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे किसानों व पत्रकार की, केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री की गाड़ियों से निर्ममता से हत्या कर दी गयी। ऐसे में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री के रहते पीड़ित परिवारों को इंसाफ नहीं मिल सकता। इंसाफ मिलने तक यह सत्याग्रह की लड़ाई जारी रहेगी।
प्रवक्ता श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अजय कुमार लल्लू ने कहा कि किसानों के साथ घटी ह््रदय विदारक घटना से देश भर में आक्रोश है और सरकार आरोपियों को बचाने में लगी है, ऐसा कभी नही हुआ जैसा भाजपा राज में हो रहा, उम्भा, हाथरस, उन्नाव, गोरखपुर लखीमपुर में आरोपियों के साथ खड़ा रहा योगी शासन यदि उपरोक्त घटनाओं में हमारी नेता श्रीमती प्रियंका गांधी जी ने सड़क पर आकर पीड़ितों के लिये न्याय न मांगा होता तो योगी शासन आरोपियों को बचाने में कामयाब हो जाता। उंन्होने कहा कि प्रदेश अपराध के जंगलराज से कराह रहा है, हर तरफ अन्याय की फसल उगाने वाली भाजपा शासन से जनता त्रस्त है, इस सरकार को उखाड़ फेंकने के साथ न्याय का शासन स्थापित करना है।

आज के मौन व्रत धरने में पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रभारी छत्तीसगढ़ श्री पीएल पुनिया, पूर्व राज्य सभा सदस्य श्री प्रमोद तिवारी, नेता विधानमण्डल दल श्रीमती आराधना मिश्रा मोना, नेता विधान परिषद श्री दीपक सिंह व राष्ट्रीय सचिव श्री धीरज गुर्जर, श्री रोहित चौधरी, बाजीराव खाड़े, प्रदीप नरवाल, तौकीर आलम, पूर्व मंत्री श्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी, विधायक श्री नरेश सैनी, विधायक श्री मसूद अख्तर, पूर्व सांसद श्री राकेश सचान, श्री प्रमोद तिवारी, पूर्व विधायक श्री पंकज मलिक, पूर्व विधायक/राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री अखिलेश प्रताप सिंह, पूर्व सांसद श्री जफर अली नकवी, वाईस चेयरमैन पंकज श्रीवास्तव, संयोजक/ प्रवक्ता अशोक सिंह, संयोजक/ प्रवक्ता अंशू अवस्थी, संयोजक जीशान हैदर, उमाशंकर पाण्डेय, रफत फातिमा, सचिन रावत, शूचि विश्वास, विशाल राजपूत, कृष्णकांत पाण्डेय, ओंमकार नाथ सिंह, द्विजेन्द्र त्रिपाठी, अमरनाथ अग्रवाल, शिव पाण्डेय, विश्वविजय सिंह, विवेकानन्द पाठक, शंकर लाल गौतम, अजय चन्द्र चौबे, कुमुद गंगवार, प्रियंका गुप्ता, सृष्टि कश्यप, आस्था तिवारी, आसिफ रिजवी, जावेद अहमद खान, पंकज तिवारी, मुकेश सिंह चौहान, संजय सिंह, अब्बाश हैदर, सम्पूर्णानन्द मिश्रा, जिलाध्यक्ष वेद प्रकाश त्रिपाठी, शहर अध्यक्ष अजय श्रीवास्तव अज्जू, दिलप्रीत सिंह डीपी, आशीष िंसह, उत्कर्ष अवस्थी, सुशीला, सदफजाफर, युवा कांग्रेस अध्यक्ष कनीष्क पाण्डेय, ओमवीर सिंह यादव, मनोज यादव, शहनवाज आलम, दुर्गविजय सिंह, मनोज तिवारी, डॉ शहजाद, तारिख सिद्दीकी, शहनवाज मंगल, सिद्धीश्री, अरूण यादव, प्रमोद सिंह, वंदना सिंह, शना राना, शुभम सिंह, आलोक सिंह रैकवार, सोमविकल, वृजेश सिंह, शंकरलाल गौतम, राकेश पाण्डेय, आशुतोष मिश्रा, अभिषेक पटेल, आलिफ पठान सहित हजारों की संख्या में कांग्रेसजन उपस्थित रहे।