संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

उन्नाव की अपर जिला जज डाक्टर जयाशील पाठक से उत्तराखंड में अभद्रता का मामला

              उन्नाव की अपर जिला जज डॉक्टर जयाशील पाठक से हाल ही में उत्तराखंड में कथित रूप से पुलिस के द्वारा की गई अभद्रता के विरोध में आज हरदोई में बार एसोसिएशन के आह्वान पर अधिवक्ता हड़ताल व न्यायिक कार्य से विरत रहे।अधिवक्ताओं ने मामले में उत्तराखंड पुलिस के दोषियों पर कार्यवाही की मांग भी उठायी।
               बतादें की उत्तराखंड के देहरादून स्थित प्रेमनगर थाने में सिपाही से अभद्रता के मामले में केस दर्ज होने के बाद इलाहाबाद हाई कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की अपर जिला न्यायाधीश जया पाठक को भले ही निलंबित कर दिया हो लेकिन मामले में अधिवक्ताओं में आक्रोश है।इस मामले में कोर्ट ने मामले से संबंधित सिपाही के खिलाफ भी केस दर्ज करने का निर्देश दिया है।बतादें की उत्तराखंड पुलिस के अनुसार, गत 11 सितंबर को देहरादून स्थित पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी में लॉ द्वितीय वर्ष के छात्र रोहन पाठक व प्रभात आर्य के बीच कार की तेज रफ्तार को लेकर मारपीट हो गई थी। मारपीट में दोनों तरफ से कई छात्र शामिल थे। अगले दिन 12 सितंबर को भी दोनों गुटों में मारपीट हुई थी। यह सूचना मिलने पर प्रेमनगर पुलिस यूनिवर्सिटी पहुंची और दोनों गुटों को थाने ले गई थी।
               दोपहर करीब दो बजे आरोपी छात्र रोहन पाठक की मां जया पाठक पति देवेश पाठक के साथ थाने पहुंची थी जिसके बाद माता-पिता के सामने रोहन उग्र हो गया और दूसरे पक्ष की कार में तोड़फोड़ की। इस पूरे घटनाक्रम का एक पुलिसकर्मी मोबाइल से वीडियो बना रहा था। यह देख जया पाठक आक्रोशित हो गईं और वीडियो बना रहे, पुलिसकर्मी को थप्पड़ जड़ दिए थे।यह वीडियो सोशल मीडिया में भी वायरल हुआ था।चूंकि अपर जिला जज जया पाठक की ओर से भी दी गई अर्जी में सिपाही पर अभद्रता और मारपीट का आरोप लगाए गए थे।