मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

किसान विधेयक वापसी की मांग को लेकर सड़क पर उतरे किसान, राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

कौशांबी।केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान अध्यादेश विधेयक की वापसी की मांग को लेकर समर्थ किसान पार्टी के कई कार्यकर्ता सड़क पर उतरे और राष्ट्रपति को संबोधित एक ज्ञापन उपजिलाधिकारी मंझनपुर को सौंपा। सौंपे गए ज्ञापन में पार्टी नेता अजय सोनी ने पार्टी की ओर से केंद्र सरकार से तत्काल किसानों के हित में तीनों किसान विधेयकों को वापस लिए जाने की मांग की।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान अध्यादेश विधेयको की वापसी की मांग को लेकर समर्थ किसान पार्टी जिले में लगातार आंदोलन कर रही है। इसी क्रम में शनिवार को पार्टी के नेता अजय सोनी की अगुवाई में जिला मुख्यालय मंझनपुर में किसान विधेयक के विरोध में आंदोलन किया जाना तय हुआ था। जैसे ही इस की सूचना जिला प्रशासन को हुई, प्रशासन ने समर्थ किसान पार्टी के जिला कार्यालय को सुबह से ही छावनी में तब्दील कर दिया। इतना ही नहीं किसान नेता अजय सोनी जैसे ही अपने समर्थकों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अपने जिला कार्यालय पहुंचे, पुलिस ने उन्हें कार्यालय में ही नजरबंद कर दिया। साथ ही सकिपा कार्यालय आने वाले पार्टी कार्यकर्ताओं पर पाबंदी लगा दी जिससे तमाम पार्टी कार्यकर्ता कार्यालय से वापस लौट गए।

इसके कुछ बाद ही पार्टी कार्यालय में उपजिलाधिकारी मंझनपुर पहुंचे और वहीं से पार्टी का ज्ञापन लिया। साथ ही ज्ञापन सौंपे जाने के बाद भी घंटों पुलिस पार्टी कार्यालय में मौजूद रही।

इसके पहले सुबह से ही अजय सोनी को मो० पुर पाइन्सा पुलिस हिरासत में लेने को भोर में अजय सोनी के घर पहुंची। किसी तरह से किसान नेता अजय सोनी पुलिस से बचकर अपने समर्थकों के साथ उदहिन चौराहा पहुंचे और सड़क पर उतर कर किसान विधेयक के विरोध में प्रदर्शन किया। इस अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं से वार्ता करते हुए अजय सोनी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान अध्यादेश विधेयक पूरी तरह से किसान विरोधी हैं और उद्योगपतियों को भारी आर्थिक लाभ पहुंचाने के लिए लाए गए हैं जिसका देश के लाखों किसानों द्वारा समुचित विरोध जारी है। आगे कहा कि जब तक केंद्र सरकार द्वारा तीनों किसान विधेयकों को वापस नहीं लिया जाता, किसानों का आंदोलन जारी रहेगा।

इस अवसर पर पार्टी के सुशील पांडेय, राम शंकर यादव, पृथ्वी लाल लोधी, अखिलेश विश्वकर्मा, नवरंग यादव, भोला यादव, बाबू भाई, लतीफ अहमद, नसीम अहमद समेत कई लोग मौजूद रहे।

मंझनपुर से विजय करन की रिपोर्ट