मतदान आपकी जिम्मेदारी, ना मज़बूरी है। मतदान ज़रूरी है।

निश्शुल्क राशन वितरण के दो माह से जमा रुपये न मिलने के कारण उचितदर-विक्रेताओं के सामने आर्थिक संकट

कछौना (हरदोई): कोविड-19 महामारी में अग्रिम पंक्ति में उचित दर विक्रेताओं ने अपनी जान जोखिम में डालकर खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत नियमित रूप से राशन वितरण कार्य किया। सीमित संसाधनों में वह अपने को खतरे में डाल कर राशन वितरण कार्य किया। जिसके कारण लोगों के सामने भोजन का संकट नहीं खड़ा हुआ है।

सरकार ने कोविड-19 महामारी की तीसरी लहर की आशंका के चलते नवंबर माह 2021 तक निःशुल्क राशन वितरण का निर्देश दिया। उचित दर विक्रेताओं को दो माह का जमा पैसा का अभी तक भुगतान नहीं किया गया है। जिससे उचित दर विक्रेताओं के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। यहां तक व्यवस्था सुचारु रुप से चलाए जाने के लिए उचित दर विक्रेताओं ने घर के जेवरात व खेत गिरवी रख दिए हैं। उचित दर विक्रेताओं के सामने परिवार का भरण-पोषण की समस्या खड़ी हो गई है। उचित दर विक्रेताओं ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर दो माह का पैसा दिलाने की मांग की है। जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया मांग पत्र शासन को भेज दिया गया है। आवश्यक कार्यवाही चल रही है। शीघ्र ही दो माह का पैसा भुगतान हो जाएगा।

रिपोर्ट- पी०डी० गुप्ता