संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

प्रभारी मंत्री सतीश महाना की अध्यक्षता में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

  • प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचायें – प्रभारी मंत्री
  • निर्माण कार्यो को गुणवत्ता एवं मानक के अनुरूप समय पर पूर्ण कराये – सतीश महाना

हरदोई, सू0वि0, 21 दिसम्बर 2020 :- औद्योगिक विकास मंत्री उ0प्र/प्रभारी मंत्री सतीश महाना जी ने विकास भवन के स्वर्ण जयंती सभागार में आहूत विकास कार्यो की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रदेश सरकार द्वारा चलायी जा रही जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचायें और नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले सड़क, नाली, सीसी रोड, खड़ंजा, पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालय आदि निर्माण कार्यो को गुणवत्ता एवं मानक के अनुरूप समय पर पूर्ण कराते हुए विकास कार्य पूर्ण करायें।

उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले विकास आदि कार्यो के सम्बन्ध में सांसद एवं विधायकों से प्रस्ताव लें और कार्य पूर्ण होने पर उनका लोकापर्ण/शिलान्यास के साथ ही कराये गये कार्यो की सूची भी जनप्रतिनिधियों को प्राथमिकता के साथ उपलब्ध करायें।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री जी ने मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सूर्यमणि त्रिपाठी को निर्देश दिये कि कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए सभी चिकित्सालयों में विशेष सफाई व्यवस्था रखें तथा डाक्टरों की उपस्थित शत प्रतिशत सुनिश्चित करायें और चिकित्सालय में आने वाले मरीजों की उचित जांच करने के साथ ही दवायें उपलब्ध करायें साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में शिविर के माध्यम से भी लोगों तक स्वास्थ्य सेवायें पहुंचायें तथा कोविड-19 की वैक्सीनेशन की पर्याप्त व्यवस्था कराने के साथ लक्ष्य के अनुरूप पात्र व्यक्तियों के आयुषमान कार्ड जारी करायें। जल निगम की समीक्षा में उन्होने अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों की पाइप पेयजल योजनाओं के कार्यो में प्रगति लाये और समय पर पूर्ण कराये ताकि ग्रामीण जनता को स्वच्छ पेयजल मिल सके इसके साथ ही रिबोर एवं मरम्मत योग्य हैण्ड पम्पों को भी ठीक करायें तथा अमृत योजना के अन्तर्गत जिन गलियों आदि में पाइप लाइन डालने के दौरान गली खोदी गयी है उन्हें संबंधित ठेकेदार के माध्यम से गुणवत्ता परक बनवायें। प्रधानमंत्री आवास नगरीय एवं ग्रामीण की समीक्षा में मा0 मंत्री जी ने पीडी को निर्देश दिये कि आवास आवंटन में पूरी पारदर्शिता बरती जाये और जांच में आवासहीन एवं पात्र पाये गये व्यक्ति को ही आवास योजना का लाभ दिया जायें।

विद्युत विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री जी ने अधिशासी अभियंता विद्युत प्रथम व द्वितीय को निर्देश दिये कि ग्रामीण क्षेत्रों की जर्जर एवं खराब लाइनों को तत्काल ठीक करायें और खराब ट्रासफारमरों की सूचना मिलने पर शीघ्र बदलवायें तथा नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत उपभोक्ताओं को रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति करायें।

शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव को निर्देश दिये कि विद्यालयों के बच्चों को ठंड का ध्यान रखते हुए तत्काल प्रभाव से स्वेटर व जूते-मोजे वितरित कराने के साथ ही शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित करें और बच्चों को गुणवत्ता परक शिक्षा दी जाये। वन विभाग की समीक्षा करते हुए मंत्री जी ने कहा कि जिन विभागों को वृक्षारोपण का लक्ष्य दिया गया है वह गड्ढा खुदाई एवं पौधों की उपलब्धता आदि की समस्त तैयारियां पूर्ण रखें और उक्त विभागों को निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप वृक्षारोपण कराना है। निराश्रित, वृद्वा एवं दिव्यांग पेंशन की समीक्षा करते हुए उन्होने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि पेंशनरों की पेंशन निर्धारित समय पर उनके खातो में भेजी जाये तथा नये आवेदन पत्रों की सम्पूर्ण जांच कराकर स्वीकृत के लिए विभाग को भेजें। पीडब्लूडी विभाग की समीक्षा करते हुए मा0 मंत्री जी ने अधिशासी अभियंता पीडब्लूडी प्रान्तीय खण्ड को निर्देश दिये कि सड़कों के निर्माण में मानक एवं गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा जाये।

मनरेगा कार्यो की समीक्षा करते हुए उन्होनेे डीसी मनरेगा को निर्देश दिये कि लक्ष्य के अनुसार मानव दिवस सृजित कराये और प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा में अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध करायें। इस अवसर पर प्रह्लाद कुण्ड से सम्बन्धित पुस्तक का विमोचन मंत्री जी द्वारा किया गया। इसके उपरान्त जिलाधिकारी अविनाश कुमार ने मंत्री जी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए प्रतीक चिन्ह भेट किया।

बैठक में विधायक राजकुमार अग्रवाल, माधवेन्द्र प्रताप सिंह, नितिन अग्रवाल, प्रभाष कुमार, रामपाल वर्मा, जिलाधिकारी अविनाश कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सूर्यमणि त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी, पीडी, डीसी एनआरएलएम, मनरेगा, जिला पूर्ति अधिकारी, अधिशासी अभियंता जल निगम, विद्युत, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, अपर जिला सूचना अधिकारी दिव्या निगम सहित अन्य सभी जिला स्तरीय अधिकारी आदि उपस्थित रहे।