सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

रुइया नरेश नरपति सिंह 160वें विजय दिवस पर किए गए याद

माधौगंज-  अमर शहीद नरपति सिंह 160वें विजय दिवस के मौके पर रुइयागढ़ी स्मारक संस्थान अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह सोमवंशी तथा पदाधिकारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों व समाजसेवियों ने भी उनकी वीर गाथा पर प्रकाश डाला। सदर सांसद अंशुल वर्मा ने कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि वीर क्रांतिकारियों ने 1857 से 1947 की कुर्बानियों के निशानों को संभाल कर रखना और उनके बताये रास्ते पर चलना ही वीर सपूतों को सच्ची श्रद्धाजंलि होगी। क्षेत्रीय विधायक आशीष सिंह आशू ने 160वें विजय दिवस के अवसर पर रुइया नरेश नरपति सिंह की वीर गाथा पर प्रकाश डालते हुए संस्थान के पदाधिकारियों को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।

सवायजपुर विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू ने कहा कि आजादी के दीवानों ने बलिदान से देश आजाद हुआ महान क्रांतिकारी रुइया नरेश राजानरपति सिंह ने बहुत लड़ाई लड़ी और देश की आजादी के लिए संघर्ष किया,विधायक ने अपने सम्बोधन में जोड़ा कि क्षेत्र के विधायक और सदर सांसद के साथ सभी संबंधित मंत्रियों से मिल कर इस स्थल को पर्यटन स्थल घोषित करायेंगे और इस स्थल को और विकसित करेंगे। सदर सांसद अंशुल वर्मा, क्षेत्रीय विधायक आशीष सिंह आशू, सवायजपुर विधायक मानवेन्द्र प्रताप सिंह रानू और समाज सेवियो ने आजादी के रणबांकुरे अमर सेनानी नरपति सिंह की प्रतिमा पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता सदर सांसद अंशुल वर्मा ने की तथा संचालन अभय शंकर शुक्ला ने किया। इस अवसर पर मनोहर सिंह प्रतिनिधि राजनाथ सिंह, रामकुमार त्रिपाठी,राहुल सिंह, अभय शंकर गौड, के. बी. सिंह, अनुज सिहं, अनुभव गुप्ता, नवल महेश्वरी, अखिलेश गुप्ता, अशोक सिंह आदि मौजूद रहे।

Credit to- अंतर्ध्वनि रीजनल डेस्क (मयंक त्रिपाठी)