कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

साहित्य संगम संस्थान ने नशा मुक्त समाज बनाने के लिए की अनूठी पहल

देश विदेश के 530 रचनाकारों ने किया ऑनलाइन काव्यपाठ

दिल्ली:- समाज मे बढ़ती नशे की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने व नया हिंदुस्तान बनाने के लिए साहित्य संगम संस्थान दिल्ली द्वारा अनूठी पहल की गई है। संस्थान द्वारा नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का के अंतर्गत दुनिया का सबसे बड़ा ऑनलाइन कवि सम्मेलन का आयोजन फेसबुक मंच पर किया गया जिसमें देश के 16 राज्यों के कवि कवयित्रियों ने नशे के खिलाफ काव्यपाठ कर जनता को जागरूक कर सन्देश देने का महत्वपूर्ण कार्य किया नेपाल यू ए ई देशों के रचनाकार भी इस आयोजन में शामिल हुए।

संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजवीर सिंह मन्त्र ने संस्थान के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी डॉ. राजेश पुरोहित को जानकारी देते हुए बताया कि संस्थान ने केंद्र सरकार में आवास एवम शहरी विकास राज्य मंत्री कौशल किशोर जी की प्रेरणा से नशा मुक्त समाज बनाने की पहल की जो आज 16 राज्यों तक पहुंच गई है। युवाओं को नशे की लत से छुटकारा दिलाने हेतु साहित्य सृजन के माध्यन से काव्य पाठ के जरिये ओनलाइन काव्य पाठ का आयोजन फेसबुक मंच पर 28 नवम्बर को मंत्री कौशल किशोर जी के उद्बोधन से किया। जिसमें 530 रचनाकारों ने काव्य पाठ किया। इस कवि सम्मेलन को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया जाएगा।

फेसबुक पर कवयित्री छाया सक्सेना व कवयित्री उमा मिश्रा ने सुन्दर पहल की जो आज विशाल कवि सम्मेलन में बदल गई। नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान के प्रायोजक रामावतार बिंजराजका निश्छल ने बताया कु इस ऑनलाइन कवि सम्मेलन में कवयित्री संगीता मिश्रा डॉ. कुमुद श्रीवास्तव कुमुदिनी इंदु शर्मा संस्थान के महासचिव तरुण सक्षम जी आशीष पांडेय का इस आयोजन में विशेष योगदान रहा। कुमार रोहित राज जी सहित संस्थान की सभी कार्यशालाओं के पदाधिकारियों ने काफी प्रचार प्रसार किया। मीडिया के सभी भाइयों ने शानदार कवरेज किया।