सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

सवायजपुर विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह ने जरूरतमन्द के लिए दिया रक्त

ग़ज़लों के कुंअर कहे जाने वाले कुंअर बेचैन की चार लाइनें आज साकार दिखीं ज़िला अस्पताल में एक सियासी शख़्सियत के किए पर। पहले वो लाइनें, फिर बात की बात में आई बात के ज़िला अस्पताल के ब्लड बैंक पहुंचने की बात।

ग़मों की आंच में आंसू उबाल कर देखो,
बनेंगे रंग किसी पर डाल कर देखो,
तुम्हारे दिल की चुभन भी ज़रूर होगी कम,
कांटा किसी के पांव का निकाल कर देखो।

सवायजपुर के भाजपा विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू आज हिन्दुस्तान अख़बार के ‘बोलिए विधायक जी’ कार्यक्रम के तहत टेलीफोन पर क्षेत्रीय समस्याओं को लेकर किए जा रहे सवालों का शमन कर रहे थे। ज़िला पंचायत सदस्य जयदेवी राजपूत, पंचनद विकास संघर्ष समिति के संयोजक अवनिकांत बाजपेयी और खैरुद्दीनपुर की पूर्व प्रधान सीमा मिश्रा ने बड़ागांव-अर्जुनपुर के बीच रामगंगा नदी पर पक्के पुल के निर्माण को लेकर जिज्ञासा जताई। विधायक ने इस मसले को प्राथमिकता से लेने की बात कहते हुए मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी, पीडब्ल्यूडी मंत्री केशव प्रसाद मौर्य और केन्द्रीय राजमार्ग एवं भूतल परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाक़ात के हवाले साल भर में निर्माण शुरू हो जाने की उम्मीद जताई।

अन्नदाता सहायता मंच संयोजक प्रीतेश दीक्षित ने पंचनद में आवारा जानवरों से फसलों को होने वाले नुकसान की ओर ध्यान आकृष्ट कराया। विधायक ने कहा कि आवारा जानवर फसलों के लिए काल हैं, इसमें दो राय नहीं। इस दिशा में वह वन विभाग से सम्पर्क कर समाधान खोजने का प्रयास करेंगे। इसके अलावा गांवों में बिजली, पानी, सम्पर्क मार्ग, सरकारी राशन की कालाबाजारी, नहर में पानी और लड़कियों के लिए उच्च शिक्षा संस्थान की तरफ़ क्षेत्रीय लोगों ने विधायक का ध्यान खींचा। सुबह 11:30 से 12:30 के बीच विधायक ने कोई 200 फ़ोन कॉल्स पिक कीं और समस्याओं के निदान को लेकर आश्वस्त किया।

हिन्दुस्तान के ब्यूरो इन्चार्ज तारिक़ इक़बाल से बातचीत में विधायक ने बड़ागांव-अर्जुनपुर पुल निर्माण कराने, बदहाल सम्पर्क मार्गों को गड्ढा-मुक्त कराने, किसानों की सुविधा के लिए साण्डी और पाली की उप मण्डी समितियों का उच्चीकरण कराने, बदहाल सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों को बेहतर बनाने, भरखनी या मान नगला में बिजली सब स्टेशन स्थापित कराने और बेरोज़गार युवाओं को हुनरमंद बनाने के लिए कौशल विकास केन्द्र की स्थापना कराने को अपनी प्राथमिकता बताया।

कार्यक्रम ख़त्म होने को ही था कि ज़िला अस्पताल से एक फ़ोन कॉल आई। दूसरी ओर से किरन अग्निहोत्री नाम की महिला ने बताया कि उसके 17 वर्षीय बेटा राहुल अग्निहोत्री पुत्र हरिबाबू ज़िला अस्पताल में भर्ती है। पिछले महीने परीक्षा देने जाते हुए वह गिर गया था। इसके बाद बुखार आया और दशा बिगड़ती गई। डॉक्टर राहुल को खून की कमी बता रहे हैं। आज उसे एक यूनिट ब्लड की ज़रूरत है। उसका ब्लड ग्रुप B+ है। तारिक़ इक़बाल के मुंह से B+ निकलते ही विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू ने कहा कि उनका ब्लड ग्रुप सेम है और उन्होंने रक्तदान की इच्छा जताई।

इसके तुरंत बाद वह ज़िला अस्पताल के ब्लड बैंक पहुंचे और राहुल के लिए एक यूनिट ब्लड डोनेट किया। इस दौरान मौजूद राहुल की मां किरन और बहन सोनी ने विधायक का आभार जताया। किरन ने बताया कि वह सवायजपुर विधानसभा क्षेत्र के बड़ागांव की निवासी है और हरदोई में रद्धेपुरवा रोड पर रहती है। मौके पर मौजूद पूर्व चिकित्साधिकारी डॉ0 सुरेश अग्निहोत्री, भाजपा जिला महामन्त्री रामचंद्र सिंह राजपूत, पूर्व जिला उपाध्यक्ष व स्टेट एससी/एसटी कमीशन के पूर्व सदस्य पीके वर्मा, पूर्व जिला मन्त्री सौरभ कुमार मिश्रा ‘नीरज’ और विवेक प्रताप सिंह ने विधायक के नोबल कॉज की सराहना की।

रक्तदान के बाद विधायक ने वार्ड-03 पहुंच कर एडमिट राहुल के स्वास्थ्य का हाल लिया। डॉक्टर्स से उसका बेहतर इलाज़ करने और अस्पताल में सफ़ाई पर ध्यान देने को कहा। बता दें, विधायक रानू से पहले सदर सांसद अंशुल वर्मा सुनीलम फाउंडेशन व अन्तर्ध्वनि के संयुक्त कैम्प और अमर उजाला फाउंडेशन के शिविर में रक्तदान कर चुके हैं। निश्चित ही दोनों जनप्रतिनिधियों ने रक्तदान की ओर युवा पीढ़ी को प्रेरित करने की दिशा में व्यावहारिक दृष्टान्त प्रस्तुत किया है, साथ ही सियासत का उजला चेहरा दिखाया है।

   अन्तर्ध्वनि एन इनर वाँयस