गोलाबारी से प्रभावित लोगों के लिए सामुदायिक बंकर बनाए जाने की योजना

गृहमंत्री ने कहा है कि सरकार को सरहद पर रहने वाले लोगों की मुसीबतों का पूरा एहसास है और इन्हें दूर करने के लिए कई कदम उठाए गए है। श्री राजनाथ सिंह ने जम्मू में भारत-पाकिस्तान सीमा के पास आर. एस. पुरा सेक्‍टर में कहा कि सीमावर्ती इलाकों के लोगों के हितों की रक्षा के‍ लिए सरकार प्रतिबद्ध है।

हम लोगों ने नौ बटालियन गठित करने का फैसला किया है। इसमें से दो बटालियन केवल सीमा के आसपास रहने वाले नौजवानों के लिए होगी लेकिन जो पांच इंडिया रिजर्व बटालियन होगी जहां पर पांच हजार से अधिक नौजवानों को रिक्रूटमेंट होगा। वहीं पर एक शर्त हम लोगों ने लगा रखी है। उसमें 60 प्रतिशत आरक्षण रहेगा जोकि सीमा पर रहने वाले परिवार है उन परिवारों के जवानों के लिए रिजर्वेंशन रहेगा।

गृहमंत्री ने कहा कि गोलाबारी से प्रभावित लोगों के लिए सामुदायिक बंकर बनाए जाने की योजना है। श्री सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से आए शरणार्थियों की तरह, पश्चिमी पाकिस्तान से आए शरणार्थियों को भी प्रति परिवार साढ़े पांच लाख रुपये की सहायता दी जाएगी। उन्होंने कश्मीरी विस्थापितों को दी जाने वाली सहायता की राशि दस हजार रुपये मासिक से बढ़ाकर तेरह हजार रुपये करने की भी घोषणा की।

url and counting visits