हरदोई की राजनीति में दस्तक दे रहा है युवा शिवम सिंह

ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले
ख़ुदा बंदे से ख़ुद पूछे बता तेरी रज़ा क्या है ।

ये पंक्तिया पढ़ने में जितनी आसान लगती हैं अमल में उतनी ही मुश्किल हैं । पर जब किसी पर ये लाइने सटीक बैठती है तब पता चलता है कि इन पंक्तियों का महत्व क्या है ? चूंकि मैं राजनैतिक पोस्टों से दूर रहता हूं फिर भी आज कुछ लिखने का मन किया तो चल पड़ी कलम ।

चलिए आप सबको रूबरू कराते है इन पंक्तियों को यथार्थ करने वाले कस्बा बघौली निवासी शिवम सिंह के बारे में अब से कुछ साल पहले एक छोटा बच्चा जिसमें कुछ अलग ही कर गुजरने की ललक थी । जो हमेशा दादा… दा कह कर नई नई जिज्ञासा लेकर आता था । आज राजनीति में नये आयाम की ओर अग्रसर है तो मन में अपार हर्ष होता है । समाज के लिए कुछ अलग कर गुजरने की चाह मे सिविल सर्विसेज की तैयारी को छोड़ कर शिवम सिंह को मैंने सबसे पहली बार 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा मे समर्पित कार्यकर्ता के रूप मे देखा, जब कस्बा बघौली में कोई भाजपा का झण्डा तक लगाने को तैयार न था । तत्कालीन युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष संदीप सिंह ने इस कोहिनूर की पहचान की व तराश कर राजनीति मे ले आए । जल्द ही लोगो के दिल मे जगह बनाने वाले शिवम सिंह ने युवाओ की एक टोली बना कर बघौली क्षेत्र ने युवा भाजपा की अलख जगा दी जिसका लाभ क्षेत्र में भाजपा को मिला । चुनाव बाद सांसद अंशुल वर्मा, शिवम सिंह के घर पर आभार व्यक्त करने आए । पर निस्वार्थ की राजनीति के तहत सत्ता की चाशनी न खाकर फिर झोला व किताबें उठा कर तब के इलाहाबाद अब के प्रयागराज चल दिए । अफसर बनने की तैयारी के बीच माटी के मोह ने फिर खींच लिया । अब सक्रिय राजनीति में आने को बेकरार शिवम ने जब समाज की नब्ज टटोली तो पता चला कि अब कुछ नया ही करना है । इसी 30 नवम्बर की भोर कस्बा बघौली के अधिकतर लोगों की नींद युवाओ के जोश व लगभग आधा सैकड़ा लग्जरी गाड़ियों के शोर से खुली तब जाकर पता चला कि आज भदरी स्टेट के राजकुमार व कुण्डा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया की राजनैतिक रैली है । जिसमेें यह काफिला व युवाओ का हुजूम जा रहा है । हृदय आल्हादित हुआ । अब जो भी हो वह तो राजा भैया, अक्षय प्रताप सिंह व संस्थापक सदस्य वीर सिंह ही करेगे पर गलियारो चौबारो सहित बुजुर्गो से लेकर युवाओ मे शिवम सिंह को बड़ी जिम्मेदारी मिलने का पूर्ण विश्वास है । मैं तो ईश्वर से प्रार्थना करूंगा प्रिय छोटे भाई शिवम सिंह को जनसत्ता दल में बड़ी जिम्मेदारी मिले जिसका वह निर्वहन सम्पूर्ण मनोयोग से कर सके |

मिला विरासत मे मुझे… केवल आशीर्वाद ।
मैने उसको रख लिया, उनका समझ प्रसाद ।

url and counting visits