गर्मी आते ही बिजली विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे गरीब किसान

                 गर्मी का मौसम आते ही बिजली विभाग की लापरवाही का खामियाजा गरीब किसान अपनी खड़ी गन्ने व गेहूँ की फसल तारों के गिरने से जलने से  भुगत रहे। एक हफ्ते में कोथावां में यह तीसरी बड़ी घटना है जब किसानों की फसल बिजली का तार गिरने से जल गई लेकिन जलने के बाद भी इसकी रोजथाम व नुकसान की भरपाई की कोई ठोस कार्यवाही होती नहीं दिखती।
              कुछ दिन पहले कल्यानमन में वारिस पुत्र इलाही की 10 बीघे गन्ने की फसल तो पटकापुर में कमलेश की गेहूँ की फसल वहीं आज पुरवा बाजीराव के निबहा में कई लोगों की 20 बीघे से भी ज्यादा फसल जलकर खाक हो गई। जिनमें रामदास राधे नन्दलाल धरम श्यामू अयोध्या लालता प्रसाद प्रमोद आदि की फसल जलकर राख हो गई हमेशा की तरह यहां भी अग्निशमन नहीं पहुची लेकिन लेखपाल ने आकर जरूर जांच कर ली। किसानों ने इस तरह बर्बाद हो रही फसलों पर गहरी चिंता व्यक्त की। किसान पहले तो जैसे तैसे फसल बो पाता है तो प्रकृति की मार यदि इन सबसे बच जाए तो अब बिजली की मार। ग्रामीणों ने सरकार से उचित मुवावजे की मांग कर राहत देने की गुजारिश की है। सरकार जहां किसानों को हर मदद का वादा कर रही है वहीं इन जली फसलों को देखने को नेता तक नही पहुंचता।
url and counting visits