स्विगी का आर्थिक आतंकवाद, फूड डिलीवरी कम्पनी ने डिलीवरी ब्वॉयज़ का पर ट्रिप मेहनताना तीस रूपये से घटाकर किया पन्द्रह

राघवेन्द्र कुमार राघव-

ऑनलाइन फूड डिलीवरी कम्पनी स्विगी डिलीवरी ब्वॉयज़ का मेहताना जस्ट हॉफ़ कर अपने वर्कस के साथ अनैतिक व्यवहार कर रही है ।

दिन-रात एक कर स्विगी के प्रोडक्ट्स को घर-घर पहुँचाने वाले डिलीवरी ब्वॉयज़ का कम्पनी ने पर ट्रिप मेहनताना तीस रूपये से घटाकर 15 कर दिया है । कर्मचारियों को पूर्व सूचना दिए बिना स्विगी का यह कदम निहायत ही बेहूदा है और लेबर लॉ के अगेन्स्ट भी ।

अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे प्रदर्शन कर रहे डिलीवरी ब्वॉयज़ ने बताया कि इससे पहले भी हमारा इंसेंटिव घटाया जा चुका है । लेकिन इस बार तो हमारी मेहनत को हमारी मजबूरी जानकर कम्पनी ने हम सब को सड़क पर लाकर रख दिया है ।

शरीर को झुलसा देने वाली गर्मी में प्रदर्शन को विवश इन डिलीवरी ब्वॉयज़ की समस्या जो दिख रही है यह उससे भी कहीं बड़ी है । इन मेहनतकशों की मेहनत से कई घरों में चूल्हे जलते हैं । कम्पनी का इन दिहाड़ी मज़दूरों पर किया जा रहा आर्थिक अत्याचार निन्दनीय है । कम्पनी और दैनिक कार्मिकों के लिए उत्तरदायी संस्थानों को मामलेे में शीघ्र ही हस्तक्षेप कर डिलीवरी ब्वॉयज़ को न्याय दिलाने के लिए प्रयास करना चाहिए ।

url and counting visits