थू-थू होखे अब लागल, तहार सगरी

July 27, 2023 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय धीके लागल ए बबुआ! तहार नगरी,देख छलकत बा कइसे, तहार गगरी।बिधाता क बनवला, जियान कइल तू,हेने अइह मत, जइह होने क डगरी।एही करनी से करिखा पोताइ लेहल तू,सोचबो करिह ना […]