प्रश्न ज्यों-के-त्यों ठिठके मुद्रा मे, उत्तर की तलाश मे अब भी

November 9, 2023 0

८ नवम्बर, २०१६ : भारतीय अर्थव्यवस्था का ‘कृष्णपक्ष’ ● आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय भारत के आर्थिक इतिहास मे ८ नवम्बर, २०१६ की तारीख़ अति भयावह थी। जैसे ही रात्रि के ८ बजे थे, देश के […]

नरेन्द्र मोदी के सिर पर मडराता ‘नोटबन्दी’ का भूत!

October 6, 2022 0

● आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय नरेन्द्र मोदी ने जिन-जिन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए नोटबन्दी (उपयुक्त शब्द ‘नोटपरिवर्त्तन’ है।) की थी, उन्हें लेकर वे और उनकी सरकार अब बुरी तरह से घिर चुकी हैं। उच्चतम […]

नोटबन्दी का उद्देश्य कालेधन को सफेद करना था : पी चिदंबरम

August 30, 2017 0

रिजर्व बैंक की 2016-17 की रिपोर्ट पर बोलते हुए आज वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबन्दी जिस उद्देश्य से लायी गयी थी उसमें सरकार को सफलता मिली है और वह आगे बढ़ रही […]