कविता : मेरी माँ  

September 26, 2018 0

शालू मिश्रा, नोहर (हनुमानगढ़) राजस्थान मुसीबत के समंदर में जो किनारा दे वो है मेरी माँ, जीने के मायने जो सिखाये वो हैं मेरी माँ। औलाद उदास हो तो मुस्कान चेहरे पर लादे वो हैं […]