पूरी दुनिया मे हिन्दी-विद्वज्जन को मिल रहा सम्मान

February 15, 2023 0

विदेश मंत्री एसo जयशंकर ने बुधवार को नांदी, फिजी में 12 वें विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में फिजी के राष्ट्रपति रातू विलिमे मैवालीली कातोनिवेरे भी मौजूद रहे। जहाँ विदेश मंत्री का […]

जी हाँ, मैं प्यार बेचता हूँ

January 17, 2022 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय आइए जनाब!मैं प्यार बेचता हूँ।किसिम-किसिम का प्यार;तरह-तरह का प्यार;भाँति-भाँति का प्यार;नाना प्रकार का प्यार।विविध प्रकार का प्यार;विभिन्न प्रकार का प्यार।कोटि-कोटि का प्यार :–विभाजित प्यार; कटा प्यार-छँटा प्यार;अलगाऊ प्यार-लगाऊ प्यार;पूर्ण प्यार; […]

भारतीय ऐप से हिन्दी का जयघोष

January 11, 2022 0

दिल्ली:-साहित्य संगम संस्थान लगातार अध्यक्ष आदरणीय राजवीर जी के नेतृत्व में तकनीक क्षेत्र में नए कीर्तिमान गढ़ रहा है। हिंदी साहित्यकारों की जिज्ञासा ,उनकी सृजनात्मक क्षमता अब तकनीकी की सभी संभावनाओं पर खरी उतर रही […]

पढ़े-लिखे लोग का ज़िन्दा रहना किसलिए?

July 1, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय “पत्रकारिता की भाषा ‘आम आदमी’ की हो।” एक कथोपकथन (संवाद) के दौरान प्रतिष्ठित पत्रकार प्रभाष जोशी जी ने कभी मुझसे कहा था। पत्रकारिता की भाषा आम आदमी की हो और […]

आचार्य पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला में अमर उजाला के कल के अंक में ‘आलस्य की पाठशाला’

June 29, 2021 0

प्रिय विद्यार्थिवृन्द!सारस्वत पथ पर अग्रसर रहे! कल आता है; क्योंकि कल ३० जून है और दिन बुद्धवार। आप इसी दिन प्रतिसप्ताह ‘अमर उजाला उड़ान’ पत्रिका में ‘मार्गदर्शन’ स्तम्भ के अन्तर्गत ‘व्यक्तित्व-संवर्द्धन’ और ‘व्यक्तित्व-परीक्षण’ से सम्बन्धित […]

उच्चारण और लेखन-शुद्धता के प्रति सजग रहें– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

June 26, 2021 0

डी० ए० वी० पश्चिम बंगाल-प्रक्षेत्र के क्षेत्रीय प्रशिक्षण-केन्द्र-द्वारा क्षमता-संवर्द्धन प्रशिक्षण-कार्यक्रम में व्याकरण का संज्ञान कराने के लिए डी० ए० वी० मॉडल स्कूल के बीस विद्यालयों की हिन्दी-अध्यापक- अध्यापिकाओं को भाषाविद्-भाषाविज्ञानी आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ने […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

May 15, 2021 0

प्रश्न– निम्नांकित शब्दों में से कौन-से शब्द उपयुक्त हैं और क्यों?(कृपया दो वाक्यों में उत्तर दें।)१– बरात २– बारात ३– बाराती ४– बराती ◆ निकट भविष्य में ‘दैनिक जागरण’, ‘नव दुनिया’ तथा ‘नई दुनिया’ समाचारपत्रों […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

February 17, 2021 0

प्रत्येक वर्ण के पञ्चमाक्षर/पंचमाक्षर का प्रयोग आप सम्बन्धित प्रत्येक शब्द में लेखनी के माध्यम से तो कर सकते हैं; किन्तु टंकण-माध्यम से कदापि नहीं। ऐसा इसलिए कि ‘सॉफ़्टवेअर’ की उपलब्धता नहीं रहती। प्रथम–उदाहरण के लिए […]

तो क्या प्रयागराज के बुद्धिवादी ‘मुरदे’ हो चुके हैं?

January 24, 2020 0

डॉ० पृथ्वीनाथ पाण्डेय– वाह! नाम ‘प्रयागराज’ और यहाँ का बुद्धिवादी ‘ग़ुलाम’!..? ‘पूरब का ऑक्सफोर्ड’ कहलानेवाले तथाकथित ‘केन्द्रीय विश्वविद्यालय’ के समस्त शिक्षक, आइ० ए० एस०-आइ०पी०एस०-पी०सी०एस० की फैक्टरी कहलानेवाले प्रयागराज के सफ़ेदपोश अधिकारी, बाज़ारवाद को जवानी की […]