कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

July 13, 2021 0

••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••शब्दविचार••••••••••••••• परम–१- किसी क्षेत्र में सर्वाधिक उन्नत, सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण।२- किसी दिशा अथवा सीमा में अग्रसर (सबसे आगे बढ़कर चलनेवाला)।३- जिसके हाथों में सम्पूर्ण शक्ति हो (शक्तिमान्)इनके अतिरिक्त मुख्य; आदिम को भी ‘परम’ कहते हैं।उदाहरण के […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

July 9, 2021 0

•••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••कल (१० जुलाई) ‘शनिवार’ रहेगा और आप ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के समस्त संस्करणों में कल एक साथ प्रकाशित साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ के अन्तर्गत ‘मान्यता’, ‘विदेश’, ‘रोग’, ‘जोग’ आदिक शब्दों […]

कल (७ जुलाई) की ‘अमर उजाला उड़ान’ के ‘मार्गदर्शन’ में सफलता के लिए ‘धैर्य और संयम’ का पठन-पाठन

July 6, 2021 0

प्रिय विद्यार्थिवृन्द!सारस्वत पथ पर अग्रसर रहे! कल आता है; क्योंकि कल ७ जुलाई है और दिन बुद्धवार। आप इसी दिन प्रतिसप्ताह ‘अमर उजाला उड़ान’ पत्रिका में ‘मार्गदर्शन’ स्तम्भ के अन्तर्गत ‘व्यक्तित्व-संवर्द्धन’ और ‘व्यक्तित्व-परीक्षण’ से सम्बन्धित […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

July 3, 2021 0

टी० ह्वी० पर विद्यार्थियों को शिक्षित करने के उद्देश्य से ‘किशोर-मंच’ नामक एक ‘चैनल’ संचालित किया जाता है। आज (३ जुलाई) ‘किशोर-मंच’ चैनल पर रात्रि ११ बजे एक शिक्षक कक्षा नौ की पुस्तक स्पर्श, पाठ […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

July 2, 2021 0

कल (३ जुलाई) ‘शनिवार’ रहेगा और आप ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के समस्त संस्करणों में कल एक साथ प्रकाशित साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ के अन्तर्गत ‘महाभाग-महाभागी’, ‘श्रीमान्-श्रीमन्त’, ‘महानुभाव’, ‘महोदय’ आदिक शब्दों […]

पढ़े-लिखे लोग का ज़िन्दा रहना किसलिए?

July 1, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय “पत्रकारिता की भाषा ‘आम आदमी’ की हो।” एक कथोपकथन (संवाद) के दौरान प्रतिष्ठित पत्रकार प्रभाष जोशी जी ने कभी मुझसे कहा था। पत्रकारिता की भाषा आम आदमी की हो और […]

क्या होता है अर्धतत्सम शब्द या प्राकृत? पढ़िए और समझिये

June 29, 2021 0

डॉ० शक्तिधरनाथ पाण्डेय : शब्दों के बनावट के आधार पर मुख्यतः तत्सम, तद्भव, देशज और विदेशज ये चार भेद हैं। किन्तु इन मुख्य भेदों के अतिरिक्त अर्धतत्सम भेद उन्हें कहा जाता है जो शब्दों के […]

आचार्य पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला में अमर उजाला के कल के अंक में ‘आलस्य की पाठशाला’

June 29, 2021 0

प्रिय विद्यार्थिवृन्द!सारस्वत पथ पर अग्रसर रहे! कल आता है; क्योंकि कल ३० जून है और दिन बुद्धवार। आप इसी दिन प्रतिसप्ताह ‘अमर उजाला उड़ान’ पत्रिका में ‘मार्गदर्शन’ स्तम्भ के अन्तर्गत ‘व्यक्तित्व-संवर्द्धन’ और ‘व्यक्तित्व-परीक्षण’ से सम्बन्धित […]

आपका अनन्य समूह ‘शब्दसंधान’ में स्वागत है

June 27, 2021 0

आत्मीय प्रबुद्धवृन्द!यथोचित अभिवादन। आप यदि शुद्ध और उपयुक्त हिन्दी-शब्दों को जानना-समझना चाहते हों तो हमने आपके लिए एक ऐसे समूह का गठन (यहाँ ‘निर्माण’ शब्द अशुद्ध है और अनुपयुक्त भी।) किया है, जिसमें बड़ी संख्या […]

उच्चारण और लेखन-शुद्धता के प्रति सजग रहें– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

June 26, 2021 0

डी० ए० वी० पश्चिम बंगाल-प्रक्षेत्र के क्षेत्रीय प्रशिक्षण-केन्द्र-द्वारा क्षमता-संवर्द्धन प्रशिक्षण-कार्यक्रम में व्याकरण का संज्ञान कराने के लिए डी० ए० वी० मॉडल स्कूल के बीस विद्यालयों की हिन्दी-अध्यापक- अध्यापिकाओं को भाषाविद्-भाषाविज्ञानी आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय ने […]

मातृभाषा में शिक्षण करना हस्तामलक नहीं– आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

June 23, 2021 0

नेहरू ग्रामभारती मानित विश्वविद्यालय और केन्द्रीय हिन्दी निदेशालय का संयुक्त राष्ट्रीय आयोजन ★ प्रस्तोता– राघवेन्द्र कुमार राघव (सम्पादक आईवी24, अवध रहस्य साप्ताहिक) “पैदा होने के बाद शिशु जो कुछ भी उच्चारित करता है, वह उसकी […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 18, 2021 0

कल (१९ जून) ‘शनिवार’ रहेगा और आप ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के समस्त संस्करणों में कल एक साथ प्रकाशित साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ के अन्तर्गत ‘जन्मजयन्ती’, ‘जयन्ती’, ‘जन्मदिन’, ‘जन्मतिथि’ तथा कई […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 17, 2021 0

••••••••••••••••••••••••••••••••••◆ निम्नलिखित अशुद्ध वाक्य को कारण-सहित विशद (स्पष्ट) रूप में शुद्ध करें।■ अशुद्ध वाक्य है– प्राधानाचार्या महोदय! आपके दर्शनों को पाकर मैं अभिभूति हूँ।● अब इस वाक्य की अशुद्धियों को विस्तारपूर्वक समझते हुए, इसके शुद्ध […]

साप्ताहिक ‘अमर उजाला उड़ान’ में कल

June 15, 2021 0

•••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••प्रियवर विद्यार्थिवृन्द!सारस्वत पथ पर अग्रसर रहे! (‘रहें’ और ‘रहें!’ अशुद्ध प्रयोग हैं; क्योंकि यहाँ ‘इच्छासूचक’ वाक्य है।) हमारे साप्ताहिक (बुद्धवासरीय) स्तम्भ ‘मार्गदर्शन’ के अन्तर्गत आप कल (१६ जून) ‘अमर उजाला उड़ान’ में कुछ हटकर ज्ञान […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 10, 2021 0

अशुद्ध और अनुपयुक्त शब्द-प्रयोग :– सगुण-दुर्गुण, कपूत-सपूत। यहाँ शुद्ध और उपयुक्त शब्द ‘सुगुण’ है। ‘सुगुण’ और ‘दुर्गुण’ ही एकसाथ प्रयोग किये जानेवाले विपरीतार्थक शब्द हैं। सगुण का अर्थ है, ‘गुणसहित’ और सुगुण का अर्थ है, […]

‘अमर उजाला उड़ान’ के ‘मार्गदर्शन’ में कल (९ जून)

June 8, 2021 0

कल (९ जून) बुद्धवार रहेगा और आप कल की ‘अमर उजाला उड़ान’ पत्रिका में हमारे साप्ताहिक स्तम्भ ‘मार्गदर्शन’ के अन्तर्गत ‘प्रेरणाप्रद विचार’– ‘ज़िन्दगी की किताब पढ़ना सीखें’ का अनुशीलन करेंगे। सच, मनुष्य वेद-वेदान्त तथा अन्य […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 4, 2021 0

कल (५ जून) शनिवार रहेगा और आप ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के समस्त संस्करणों में कल एक साथ प्रकाशित साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ के अन्तर्गत ‘कि’, ‘की’, दी, ‘किया’, ‘लिया’ आदिक […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 2, 2021 0

जो भी लोग :– साहित्यकार, लेखक, कवि, पत्रकार, अध्यापक-अध्यापिकाएँ, प्रकाशक, प्रूफ़-संशोधक आदिक ‘गया’ से ‘गये’, ‘दिया’ से ‘दिये’, ‘लिया’ से ‘लिए’, ‘बताया’, ‘दिलाया’, ‘हिलाया’, ‘रुलाया’ का क्रमश: बताए’, ‘दिलाए’, ‘हिलाए’, ‘रुलाये’; ‘हुए’ का ‘हुये’, ‘हूँ’ […]

1 2 3 4