संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

October 23, 2021 0

◆ शब्द– अल्ला और अल्लाह।★ अल्ला– यह ‘संस्कृत-भाषा’ का शब्द है, जो लिंग-निर्धारण के अन्तर्गत स्त्रीलिंग का शब्द है। अधिकतर कोशकार ‘अल्ला’ शब्द को ‘अरबी-भाषा’ बताते हैं, जो कि ‘भयंकर’ दोष है। शब्दभेद की दृष्टि […]

हिन्दी के बल पर अपनी पहचान बनानेवालों का ‘हिन्दी’ के साथ विश्वासघात!..?

September 23, 2021 0

— आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय धिक्कार है, देश के सभी समाचार-चैनलों की स्वामी-स्वामिनियों और उनके महिला-पुरुष कर्मचारियों (निदेशक, कार्यकारी निदेशक, सम्पादक, समाचार-सम्पादक, संवाददाता, सूत्रधार आदिक) को, जो ‘हिन्दी’ की दी हुई रोटी तो तोड़ रहे […]

हिन्दी लेखकों का अँगरेज़ी प्रेम

September 18, 2021 0

रंगनाथ सिंह जी (वरिष्ठ पत्रकार) की फ़ेसबुक-वॉल से साभार : एक बार अपने एक प्रिय टीचर से मैंने कह दिया था कि ‘सर इस देश में इंग्लिश भाषा नहीं क्लास है तो वो नाराज हो […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की रविवासरीय/रविवारीय पाठशाला में ‘कल’

September 4, 2021 0

लगभग चार वर्षों से देश के शीर्षस्थ हिन्दी-दैनिक समाचारपत्र ‘दैनिक जागरण’ में हमारी ‘भाषा की पाठशाला’ अनवरत प्रकाशित होती आ रही है। पहले यह ‘प्रति शनिवार’ को सप्तरंग पृष्ठ पर अपना भाषिक आकार ग्रहण करते […]

क्या होता है अर्धतत्सम शब्द या प्राकृत? पढ़िए और समझिये

June 29, 2021 0

डॉ० शक्तिधरनाथ पाण्डेय : शब्दों के बनावट के आधार पर मुख्यतः तत्सम, तद्भव, देशज और विदेशज ये चार भेद हैं। किन्तु इन मुख्य भेदों के अतिरिक्त अर्धतत्सम भेद उन्हें कहा जाता है जो शब्दों के […]

आचार्य पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला में अमर उजाला के कल के अंक में ‘आलस्य की पाठशाला’

June 29, 2021 0

प्रिय विद्यार्थिवृन्द!सारस्वत पथ पर अग्रसर रहे! कल आता है; क्योंकि कल ३० जून है और दिन बुद्धवार। आप इसी दिन प्रतिसप्ताह ‘अमर उजाला उड़ान’ पत्रिका में ‘मार्गदर्शन’ स्तम्भ के अन्तर्गत ‘व्यक्तित्व-संवर्द्धन’ और ‘व्यक्तित्व-परीक्षण’ से सम्बन्धित […]

आपका अनन्य समूह ‘शब्दसंधान’ में स्वागत है

June 27, 2021 0

आत्मीय प्रबुद्धवृन्द!यथोचित अभिवादन। आप यदि शुद्ध और उपयुक्त हिन्दी-शब्दों को जानना-समझना चाहते हों तो हमने आपके लिए एक ऐसे समूह का गठन (यहाँ ‘निर्माण’ शब्द अशुद्ध है और अनुपयुक्त भी।) किया है, जिसमें बड़ी संख्या […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

June 2, 2021 0

जो भी लोग :– साहित्यकार, लेखक, कवि, पत्रकार, अध्यापक-अध्यापिकाएँ, प्रकाशक, प्रूफ़-संशोधक आदिक ‘गया’ से ‘गये’, ‘दिया’ से ‘दिये’, ‘लिया’ से ‘लिए’, ‘बताया’, ‘दिलाया’, ‘हिलाया’, ‘रुलाया’ का क्रमश: बताए’, ‘दिलाए’, ‘हिलाए’, ‘रुलाये’; ‘हुए’ का ‘हुये’, ‘हूँ’ […]

२ जून की ‘उड़ान’ (अमर उजाला) में ‘अनुवाद-कला’

June 1, 2021 0

•••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••कल (२ जून) ‘बुद्धवार’ रहेगा और आप ‘अमर उजाला’-संग प्रकाशित ‘उड़ान’ पत्रिका के हमारे साप्ताहिक स्तम्भ ‘मार्गदर्शन’ में ‘अनुवाद-कला’ (हिन्दी से अँगरेज़ी और अँगरेज़ी से हिन्दी-अनुवाद) का विधिवत् ज्ञान करेंगे, जिसे ‘अमर उजाला-परिवार’ ‘कवर स्टोरी’ […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

May 28, 2021 0

कल (२९ मई) शनिवार रहेगा और आप ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के समस्त संस्करणों में कल एक साथ प्रकाशित साप्ताहिक स्तम्भ ‘भाषा की पाठशाला’ के अन्तर्गत ‘बर-वर’, बरात-बारात, बराती-बाराती’ तथा अन्य शब्दों […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

May 20, 2021 0

••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••शुद्ध शब्दप्रयोग (उदाहरण-सहित)कहाँ ‘से’ के स्थान पर ‘में’ का प्रयोग होता है; समझें :–★ मेरी समझ ‘में’ ऐसा ही है।★ तीव्र गति ‘में’ गाड़ी मत चलाओ।★ देर ‘में’ मत आना।★ गाड़ी देर ‘में’ आयेगी।★ क्रम […]

‘अमर उजाला’ की ‘उड़ान’ पत्रिका के साप्ताहिक (बुद्धवासरीय) स्तम्भ ‘मार्गदर्शन’ में कल और निकट भविष्य में आपके लिए परीक्षोपयोगी सामग्री

May 18, 2021 0

प्रिय विद्यार्थीवृन्द!ज्ञानपथ पर अग्रसर रहें। आप ‘अमर उजाला’ के संग प्रति बुद्धवार को प्रकाशित ‘उड़ान’ पत्रिका के कल (१९ मई) के अंक में साप्ताहिक स्तम्भ ‘मार्गदर्शन’ के अन्तर्गत इस आशय का आलेख पढ़ सकते हैं, […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

May 13, 2021 0

देश के अधिकतर लोग देवनागरी लिपि में ‘Vaccine’ की वर्तनी का अशुद्ध लेखन कर रहे हैं और उच्चारण भी। इसकी शुद्ध वर्तनी ‘वैक्सिन’ है, जिसे हिन्दी में ‘टीका’ कहते हैं। कृपया इसके वर्तनी-प्रयोग करते समय […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

March 12, 2021 0

कल (१३ मार्च) शनिवार होगा और आप प्रति सप्ताह की भाँति ‘दैनिक जागरण’, ‘नई दुनिया’ तथा ‘नव दुनिया’ के सप्तरंग पृष्ठ पर ‘हिंदी हैं हम’ के अन्तर्गत हमारी शनिवासरीय ‘भाषा की पाठशाला’ में यह ज्ञान […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

January 31, 2021 0

◆ प्रतियोगिता-प्रकोष्ठ ● प्रतियोगिता– एक ★ विषय– ‘प्रथम’ गत मास हमने इस आशय की सूचना सम्प्रेषित की थी कि इस पाठशाला की ओर से निकट भविष्य में एक ‘प्रतियोगिता-शृंखला’ का आयोजन किया जायेगा, जो कि […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

January 28, 2021 0

★उत्तरप्रदेश-विधानसभा समूह ‘ख’ की परीक्षा पर प्रश्नचिह्न★’हिन्दी-भाषा’ के प्रश्नपत्र तैयार करनेवालों की अयोग्यता सामने आयी विद्यार्थी किसी भी परीक्षा में इसलिए सम्मिलित होते हैं कि उनका परिश्रम सार्थक हो और वे परीक्षा की कसौटी पर […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

January 15, 2021 0

★ आप ‘कितने’ पानी में हैं, टटोलिए! १- आपके घर के ठीक पीछेवाले घर से, दायीं ओर से चौथा घर किसका है ?२ – आप घर से जब नित्य जिस विद्यालय में अथवा जिस कार्यालय […]

आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय की पाठशाला

January 11, 2021 0

”देखिए! ये हसीं शाम ढलने को है,अब तो जाने की इजाज़त दे दो मुझे।” यह युगल गीत ‘राज़’ फ़िल्म का है, जिसे लता मंगेश्कर जी और मुकेश जी ने गाये हैं। यहाँ पर दो विचारणीय […]

‘शब्दशिल्प-संस्कार’ की उपयोगिता-महत्ता को समझें

January 2, 2021 0

•••••••••••••••••••••••••••••••हमारा सांस्कृतिक-सामाजिक वैभव कैसे लुप्त हुआ? ★आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय हमने जब अँगरेज़ी तिथि, माह तथा वर्ष अङ्गीकार कर लिये हैं अथवा उनका व्यवहार करने के लिए व्यवस्था बना दी गयी है तब उन्हें ‘आङ्गल’ […]

देश के प्रबुद्ध-वर्ग की नववर्ष में हिन्दी-भाषा की शुद्धता के प्रति आग्रह की अभिव्यक्ति

December 31, 2020 0

नववर्ष में हिन्दीभाषा की शुद्धता के प्रति समाज को हमारे साहित्यकार, अध्यापक तथा पत्रकार-वर्ग जागरूक करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसका लक्षण उस समय दिखा जिस समय ‘सर्जनपीठ’, प्रयागराज की ओर से नववर्ष की पूर्व-सन्ध्या […]

1 2 3