कोथावाँ प्रा०वि० का हाल, बच्चों को दूध और फल नहीं दे रहे जिम्मेदार

हे प्रकृति! अब करो उद्धार

July 22, 2021 0

★ आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय समय आया, कर विचार।देश की जनता है लाचार।समय-बाण से बेधो इतना,राजनीति बदले आचार।खद्दर शर्म से पानी-पानी,नहीं कहीं सुख का आधार।महँगाई से त्रस्त है जनता,सरकारें धरती पर भार।नेताओं से त्रस्त है […]

दिन्ना : जीवन चक्र की पर्णहीन व्यथा का साक्षी

February 16, 2021 0

यह दिन्ना है । जीवन चक्र की पर्णहीन व्यथा इसे ‘दीन’ दर्शाती है । यह धर्मिता विरहिणी की भाँति श्रंगार त्यागी वीत-द्वेष-वृती है । तिक्त शीतकाल में देह की दहन-दाह से रिक्त हो, मधुमास की […]

प्रकृति हमारा संरक्षण करती है– अनवार अब्बास

December 26, 2020 0

प्रकृति से ‘परा-प्रकृति तक’ सम्पन्न प्रकृति-संरक्षण मंच ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ की ओर से २५ दिसम्बर को ‘सारस्वत सभागार’, लूकरगंज, प्रयागराज में पर्यावरण-विषयक एक बौद्धिक परिसंवाद का आयोजन हुआ। इस अवसर पर प्रसिद्ध शाइर अनवार अब्बास को […]

‘प्रकृति से परा-प्रकृति तक’ का आयोजन २५ दिसम्बर को

December 23, 2020 0

प्रकृति-संरक्षण और साहित्यिक मंच ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ के तत्त्वावधान में ‘ पं० महामना मदनमोहन मालवीय और कवि पं० अटल बिहारी वाजपेयी की जन्मतिथि के अवसर पर ‘सारस्वत सभागार’, लूकरगंज, प्रयागराज में २५ दिसम्बर को पूर्वाह्न ११ […]

भारतीय संस्‍कृति प्रकृति के सामंजस्‍य में जीती है : विश्‍व पर्यावरण दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी

June 5, 2018 0

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत 2030 तक उत्‍सर्जन में अपने सकल घरेलू उत्‍पाद-जी डी पी की 33 से 35 प्रतिशत कमी करने के लिए वचनबद्ध है। आज शाम नई दिल्‍ली में विश्‍व […]

कैसा हो बाल साहित्य का स्वरुप : एक विचार

February 11, 2018 0

रजनी गुसैन – Sarahi Prakashan की वॉल से – भारत में साहित्य सृजन का क्षेत्र बहुत विस्तृत हैं! साहित्य की विभिन्न विद्याऐं प्राचीन समय से ही भारतीय साहित्य में उपलब्ध हैं! साहित्य को विभिन्न श्रेणियों में बांटा गया […]

साण्डी पक्षी विहार कुदरत की अनमोल देन है – पुलकित खरे

February 3, 2018 0

                03 से 05 फरवरी तक चलने वाले साण्डी पक्षी महोत्सव का शुभारम्भ विधायक रजनी तिवारी, आशीष सिंह आशू, जिलाध्यक्ष बीजेपी श्रीकृष्ण शास्त्री व जिलाधिकारी पुलकित खरे, पुलिस […]

प्रकृति से सामंजस्य बिठाकर ही पर्यावरण और प्रकृति का संरक्षण किया जा सकता है : मुख्यमन्त्री आदित्यनाथ योगी

January 22, 2018 0

उत्तर प्रदेश के मुख्यमन्त्री आदित्यनाथ योगी ने उत्तरायणी कौथिग मेले के अवसर पर लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित किया। पर्वतीय संस्कृति, कला और वहां के अध्यात्म व धर्म से जुड़कर विकास की दिशा को […]

मयाध्यक्षेण प्रकृतिम् सूयते स चराचरम्

January 4, 2018 0

जय श्रीकृष्ण……….. सनातन धर्म के अनुसार भगवान विष्णु सर्वपापहारी पवित्र और समस्त मनुष्यों को भोग तथा मोक्ष प्रदान करने वाले प्रमुख देवता हैं। जब-जब इस पृथ्वी पर असुर एवं राक्षसों के पापों का आतंक व्याप्त […]

प्रकृति से ‘परा-प्रकृति’ की ओर’ महोत्सव सम्पन्न

December 26, 2017 0

प्रकृति-संरक्षण-मंच ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ की ओर से आज (२५ दिसम्बर) संगम-तट पर स्थित अध्यात्म-पण्डाल में ‘प्रकृति से ‘परा-प्रकृति’ की ओर’ वार्षिक महोत्सव का आयोजन किया गया। समारोह की अध्यक्ष इलाहाबाद विश्वविद्यालय में मानव-संसाधन विकास-केन्द्र की उपनिदेशक […]

प्रकृति से परा-प्रकृति की ओर’ समारोह का आयोजन २५ दिसम्बर को संगम-तट पर

December 21, 2017 0

महामना पं० मदनमोहन मालवीय की पावन जन्म तिथि के अवसर पर प्रकृति-संरक्षण मंच ‘साहित्यांजलि प्रज्योदि’ की ओर से अखण्ड अन्न क्षेत्र ‘संगम नोज’-स्थिति (संगम-तट) पण्डाल में आगामी २५ दिसम्बर को पूर्वाह्न १० बजे से ‘प्रकृति […]

गांव से पलायन रोकने के लिये गरीबों को मनरेगा के तहत अधिक से अधिक काम दें – आयुक्त

September 27, 2017 0

विगत 26 सितम्बर को विकास खण्ड शाहाबाद के सभागार में विकास खण्ड के समस्त ग्राम प्रधानों के साथ खुली बैठकों का आयोजन समाज कल्याण आयुक्त चन्द्र प्रकाश की अध्यक्षता में किया गया। बैठक को संबोधित […]

आकाशीय बिजली गिरने से वृद्ध की मौत

September 22, 2017 0

शाहाबाद के ग्राम रामपुर कोड़ा में आकाशीय बिजली गिरने से एक वृद्ध की मौत हो गई। गुरुवार को वृद्ध गुलाब घर से कूछ दूरी पर अपने जानवर चरा रहा था। तभी बारिश के दौरान वह […]