सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

चिन्तन- जो पढ़े सो मूरख, न पढ़े महामूरख

April 1, 2018 0

अनन्तगामी हो चुके भारत के व्यतीत राष्ट्रपति अबुल पाकिर जैनुलआब्दीन साहब का एक विचार रेडियो समाचारों के ठीक पहले सुनता हूँ- “ यदि लोग मुझे अच्छे शिक्षक के रूप में याद रखेंगे तो मेरे लिए […]