शराब पीकर हुड़दंग करने वालों पर कठोर कार्यवाही करें – जिलाधिकारी

file pic.
                  जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कहा है कि इस वर्ष होलिका दहन 01 मार्च बृहस्पतिवार  व होलिकोत्सव- रंग 02 मार्च शुक्रवार को खेला जायेगा और त्यौहार के अवसर पर इस बात की आवश्यकता होती है कि होली का त्यौहार हर्ष एवं उल्लास,आपसी सद्भाव तथा शान्तिपूर्ण ढ़ंग से शोभनीय वातावरण में मनाया जाये । उन्होने कहा है कि होलिका दहन के बाद प्रातःकाल से ही लोग एक दूसरे के उ्पर रंग, गुलाल आदि फेंकते है, इससे कभी-कभी दूसरे सम्प्रदाय के लोगों पर रंग पड़ जाने से कटुता तथा आपसी तनाव जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है ।
                   जिलाधिकारी ने कहा है कि होली त्यौहार के कुछ दिनों पूर्व से समस्यायें उत्पन्न होने की सम्भावनायें बन जाती है,जैसे समय से पूर्व होलिका जला देना,आने जाने वालों पर इच्छा के विरूद्व विशेष कर मुस्लिम वर्ग के लोगों पर रंग अथवा कीचड़ आदि फेंकना, महिलाओं एवं लड़कियों के साथ छेड़खानी करना,होली का स्थान बदलना, शरारती तत्वों द्वारा गलत तरीके से छपपर-झोपड़ी,लकड़ी आदि होली में डालना, होली खेलने में नुकसान पहुंचाने वाले पदार्थो का प्रयोग करना, शराब पीकर हुड़दंग करना आदि होता है ।
                  श्री खरे ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये है कि अपने क्षेत्र में सघन भ्रमण करते हुए इन सभी बिन्दुओं पर कड़ी नजर रखें और यदि इस प्रकार का कोई प्रकरण संज्ञान में आये तो तत्काल सम्बन्धित के विरूद्व कठोर कार्यवाही की जाये । उन्होने कहा कि ऐसे स्थलों की पहचान कर ली जाये जहां राहगीरों,दुकानदारों एवं वाहन चालकों आदि से चन्दा जबरदस्ती वसूलने, रेलगाड़ी,बसों आदि वाहनों पर कीचड़, रंग भरे गुब्बारे व पत्थर फेंकने वालों पर कड़ी नजर रखी जाये साथ ही सार्वजनिक कार्यक्रम जैसे होली मिलन आदि के संचालन में शान्ति व्यवस्था बनाये रखी जाये ।
                 जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारियों एवं क्षेत्राधिकारियों से कहा है कि 02 मार्च को होली का रंग प्रातः से अपरान्ह 01 बजे तक खेला जायेगा तथा 02 मार्च को जनपद की सभी देशी व अंग्रेजी शराब की दुकान सायं 05 बजे तक बन्द रहेगी । उन्होने निर्देश दिये कि सभी थानों पर शान्ति कमेटी की बैठक कर ली जाये तथा क्षेत्र के अराजक तत्वों को चिहिन्त कर लिया जाये । जिलाधिकारी ने नगर पालिका परिषद व नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिये है कि रंग खेलने के बाद सफाई आदि में पानी की आवश्यकता को देखते हुए विद्युत चालित पम्पों से सभी टंकियों को एंडवास में भरवा लें तथा वाटर सप्लाई पूरे समय सुनिश्चित की जाये । उन्होने अधिशासी अभियंता विद्युत को निर्देश दिये है कि होली पर्व पर विद्युत आपूर्ति बाधित न हो तथा अग्नि शमन अधिकारी टैंकरों में पानी भराकर तैयार रखेगें । जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों व क्षेत्राधिकारियों को निर्देश दिये है कि होली के इस संवेदनशील त्यौहार को पूर्ण सजगता एवं विवेक से स्थिति का पूर्व आंकलन करके शान्ति पूर्ण वातावरण में त्यौहार को हर्षोल्लास के साथ सम्पन्न करायें तथा किसी भी अप्रिय घटना से उन्हें व पुलिस अधीक्षक को तत्काल अवगत करायेगें ।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


Solve : *
6 + 10 =


url and counting visits