कस्तूरबा विद्यालय की मूलभूत सुविधाओं के सम्बन्ध में अवगत करायें – जिलाधिकारी

                    कल कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कस्तूरबा गांधी विद्यालयों की जमीनी हकीकत हेतु बुलायी गयी बैठक की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी पुलकित खरे ने कहा कि कस्तूरबा विद्यालयों की मूलभूत सुविधााओं एवं वहां पढ़ने वाली बालिकाओं की समस्याओं की जानकारी करने के लिए चुनिंदा अधिकारियों को लगाया जा रहा है जो कस्तूरबा विद्यालयों में शौचालय, हैण्डवाश, पेयजल, विद्युतीकरण, वार्डन एवं शिक्षकों की उपस्थित, शिक्षा एवं भोजन की गुणवत्ता, बेड एवं गद्दे तथा विद्यालय में क्या कमियां है और बालिकायें क्या सुविधायें और चाहती है।
                अधिकारियों को यह एहसास न हो कि उन्हें दूर के कस्तूरबा विद्यालयों के निरीक्षण के लिए भेजा जा रहा है, इस लिए जिलाधिकारी ने लाटरी के माध्यम से जिस अधिकारी को जिस विकास खण्ड की पर्ची मिली उन अधिकारियों को उन्हीं कस्तुरबां विद्यालय निरीक्षण के लिए भेजा गया। लाटरी में जिला पूर्ति अधिकारी को कस्तूरबा विद्यालय माधौगंज, उप जिलाधिकारी सदर को अहिरोरी, प्रधानाचार्य आईटीआई बावन, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी हरपालपुर, जिला कृषि अधिकारी साण्डी, जिला विद्यालय निरीक्षक भरावन, जिला कार्यक्रम अधिकारी हरियावां, जिला गन्ना अधिकारी कोथावां, जिला पंचायत राज अधिकारी  टड़ियावां, सहायक निदेशक सूचना मल्लावां, सहायक निदेशक मत्स्य बिलग्राम, डायट प्रचार्य शाहाबाद, डीडी कृषि पिहानी, आबकारी अधिकारी भरखनी, पीडी सण्डीला तथा नगर मजिस्टेªट को कस्तूरबा गांधी विद्यालय बेहन्दर की पर्ची निकली।
                  जिलाधिकारी ने समस्त अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिस अधिकारी के नाम जिस कस्तूरबा विद्यालय के लिए जांच की पर्ची निकली है वह उसका विधि फोटोग्राफ  निरीक्षण करेगें तथा वहां पढ़ने वाली बालिकाओं का फीड बैक लेने के साथ आख्या शाम तक उन्हें उपलब्ध करायेगें। इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने कस्तूरबा गांधी विद्यालय सुरसा का स्वयं निरीक्षण किया तथा निरीक्षण के दौरान वहां पेयजल, शौचालय, हैण्डवाश, जनरेटर, भोजन में प्रयोग होने वाले एगमार्ग के मशाले,तेल व अनाज आदि को देखा तथा वार्डन वसुंधरा को निर्देश दिये कि बालिकाओं को किसी प्रकार की समस्या न होने दी जायें। जिलाधिकारी ने पूर्व में कक्षा 06 से 07 एवं 08 में आयी बालिकाओं से कहा कि वह अपने समकक्ष बालिकाओं को अपनी पूर्व कक्षा की किताबों के माध्यम से पढ़ायेंगी तो उनकी बुद्वि में वृद्वि होगी तथा पिछली क्लास में क्या पढ़ा था उसकी भी जानकारी मिलेगी।
                 निरीक्षण के दौरान बालिकाओं ने विद्यालय में झूला, वाशिंग मशीन, कूलर एवं कम्प्यूटर की कमी के बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया,इस पर जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया कि जल्द की विद्यालय की इन कमियों को पूरा किया जायेगा। विद्यालय में 07 बालिकायें बुखा एवं चिकनपास से पीड़ित होने की जानकारी पर जिलाधिकारी ने तत्काल मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि चिकित्सकों की टीम बनाकर उक्त बालिकाओं का परीक्षण कराया जाये तथा उचित स्वास्थ्य लाभ दिया जाये ।

url and counting visits