आप सब पाठकों-दर्शकों को नवरात्र के पावन पर्व की शुभकामना

प्रवासी मजदूरों हेतु तीन दिवसीय प्रशिक्षण का समापन

शरदेन्दु मिश्र ‘राहुल’, बघौली

ब्लाक अहिरोरी के अंतर्गत अहिरोरी गांव में दिनांक 13 सितंबर 2020 को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान के अंतर्गत तीन दिवसीय बेमौसमी सब्जी उत्पादन विषयक प्रशिक्षण का समापन हुआ। इस अवसर पर कार्यक्रम समन्वयक एवं उद्यान वैज्ञानिक डॉ डी बी सिंह ने प्रवासी मजदूरों को बेमौसमी सब्जी उत्पादन की नई नई तकनीक के बारे में विशेष जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि सुरक्षित एवं संरक्षित सब्जी उत्पादन हेतु लोनटनल पालीहाउस प्रक्रिया को अपनाकर बेमौसमी सब्जी का नर्सरी उगाकर सब्जी का उत्पादन सफलतापूर्वक किया जा सकता है तथा यह भी बताया कि उद्यान विभाग द्वारा सब्जी उत्पादक किसानों भाइयों को लोटनल पाली हाउस दिया जाता है।

केंद्र के कृषि प्रसार वैज्ञानिक डॉ मुकेश सिंह ने उद्यान विभाग द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न प्रकार की योजनाओं के बारे में बताया तथा यह भी बताया कि प्रवासी भाई पोषक वाटिका लगाकर अच्छा आमदनी प्राप्त कर सकते हैं। इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र के पादप प्रजनन वैज्ञानिक डॉ दीपक कुमार मिश्रा ने सब्जियों की विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के बारे में बखूबी से जानकारी प्रदान किया। उन्होंने यह भी बताया कि सब्जियों में बारहमासी प्रजातियां बहुत है जिनको किसान भाई उगा कर के अच्छा उत्पादन प्राप्त कर सकते हैं। पादप सुरक्षा वैज्ञानिक डॉ सी पी एन गौतम ने बे मौसमी सब्जियों में लगने वाले कीटो एवं रोगों के बारे में चर्चा की। यह भी बताया कि बेमौसमी सब्जियों को ऊंचे मेड पर करना चाहिए। जिससे रोग व कीट लगने की संभावना कम होती है। केंद्र के वैज्ञानिक डॉ पी पाल ने बताया कि प्रवासी भाई बेमौसमी सब्जी उत्पादन करके अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं। तथा बे मौसमी सब्जी उत्पादन के बारे में बहुत ही गहन जानकारी दी। इस अवसर पर प्रवासी मजदूर भाइयों को प्रमाण पत्र भी दिया गया।

url and counting visits