संजय सिंह, सांसद, आप ने पेयजल एवं स्वच्छता मिशन पर उठाए सवाल! | IV24 News | Lucknow

बालिकाओं के संरक्षण एवं सशक्तिकरण के लिए सरकार है निरंतर प्रयासरत – पल्लवी मिश्रा

अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में हुआ गोष्ठी का आयोजन

कछौना (हरदोई)। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर महिला सशक्तिकरण एवं स्वालंबन के लिए चलाए जा रहे मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत एक गोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन नगर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में किया गया। कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंची महिला कल्याण विभाग की जिला समन्वयक ने विद्यालय की छात्राओं से सरकार द्वारा बालिकाओं की सुरक्षा एवं कल्याण के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी साझा की।

सोमवार को नगर कछौना में लगे विशेष पेंशन शिविर कार्य से निवृत्त होने के बाद परिसर में ही स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय पहुँची महिला कल्याण विभाग की जिला समन्वयक पल्लवी मिश्रा ने बताया कि अभी नवरात्रि में मातृशक्ति की उपासना की जा रही है। इस आदिशक्ति का ही एक रूप हैं बेटियां, जिन्होंने अपनी प्रतिभा और उपलब्धियों से न सिर्फ अपने परिवार का बल्कि देश का भी मान बढ़ाया है। इन्होंने साबित किया कि अगर इन्हें अवसर दिया जाए, तो ये सफलता के शिखर को छू सकती हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बालिकाओं की सुरक्षा एवं कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं। बालिका शिक्षा प्रोत्साहन कार्यक्रम के तहत बालिकाओं को लाभान्वित किया जा रहा है। बेटी बचाओं और बेटी पढ़ाओं का सरकार का कदम आज लड़कियों के लिए मजबूत हथियार साबित हुआ है।

जिला समन्वयक पल्लवी मिश्रा ने विद्यालय की बालिकाओं को उनकी सुरक्षा संबंधी जानकारियां देते हुए सरकार द्वारा चलाई जा रही कन्या सुमंगला योजना की जानकारी देते हुए पंपलेट वितरित किए। अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के महत्व के बारे में बताया कि इस दिन को मनाने का सबसे बड़ी वजह बालिकाओं के सामने आने वाली चुनौतियों और उनके अधिकारों के संरक्षण के बारे में जागरुकता लाना है।

महिलाओं और बालिकाओं के साथ हिंसा, लैंगिक असमानता और भेदभाव के साथ हो रहे अन्य जघन्य अपराधों को देखते हुए सरकार ने उनको अधिकार देने और उनके प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कई प्रयास किये हैं। सरकार इन कुरीतियों को समाप्त करने के लिए इस दिशा में लगातार काम करती आ रही है, यही वजह है कि आज महिलाएं मजबूती के साथ खड़े होकर पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार हैं। इस अवसर पर विद्यालय की वार्डेन कृति द्विवेदी, व्यायाम शिक्षक आलोक कुमार गुप्ता सहित विद्यालय की छात्राएं एवं समस्त स्टाफ मौजूद रहा।