इस प्राथमिक विद्यालय की शैक्षिक गुणवत्ता व माहौल को सलाम

रिपोर्ट- पी. डी. गुप्ता


कछौना(हरदोई): विकास खण्ड कछौना का प्रतिनिधि मंडल जिला बाराबंकी के ग्राम सभा चंदवारा में स्थित प्राथमिक विद्यालय की गुणवत्ता तथा शैक्षिक विद्यालय का माहौल आदि देखने के लिए शुक्रवार को पहुंचा। वहां के माहौल को देखकर काफी उत्साहित टीम ने अपने गांव में भी उसी तरह से विद्यालय बनाने का संकल्प लिया।

शुक्रवार को जिला पंचायत राज अधिकारी अनिल कुमार सिंह व राकेश कुमार यादव को उनकी टीम के साथ खण्ड विकास अधिकारी पी एन यादव ने बस द्वारा रवाना किया। टीम अपराह्न गाँव के प्राथमिक विद्यालय चंदवारा में पहुँच गई। टीम में विकास खण्ड कछौना के ग्राम प्रधानगण जगदीश, सरोज, गौतम कनौजिया, मोहम्मद नसीम, अहिबरन, राजाराम, अमजद गाजी, साहब लाल रोजगार सेवक प्रवेश कुमार, स्वच्छता ग्राही परमेश्वर दयाल, अजय प्रताप मौर्य, सुखबीर सिंह, एडीओ पंचायत दीपक श्रीवास्तव, ब्लाक कर्मी आदेश कुमार ,प्रेम कुमार, राज कुमार, ग्राम पंचायत अधिकारी गण एच सी एल फाउंडेशन से भुआल, गोविन्द आदि शामिल थे। टीम के सदस्यगणों ने विद्यालय परिसर में लगी इंटर लॉकिंग, बेहतरीन ढंग से रंगे पुते कमरे, विद्यालय के मैदान में उगी कारपरेट घास और बच्चों के खेलने के झूले, बेहतरीन शौचालय व विद्यालय परिसर में ग्राम सभा द्वारा कराए गए विकास कार्यों का विवरण, BPL सूची, साफ सुथरा शौचालय, पेयजल के लिए आरओ, पानी की टंकी, सौर ऊर्जा पैनल व एलईडी लाइट की व्यवस्था को देखा। वहीं बच्चों का बेहतरीन शैक्षिक स्तर व बच्चों के परिचय पत्र देखकर कहीं से लगता ही नहीं था कि यह सरकारी स्कूल है। वह विद्यालय एक मॉडल स्कूल का अहसास करा रहा था। उत्साहित टीम ने खुद की ग्रामसभा को बदलने का मन बना लिया है। विद्यालय में मिड्डे मिल की जाँच करने के लिए ग्राम सभा की निगरानी टीम गठित की गई है जो खाना की गुणवत्ता की जाँच प्रतिदिन करती है।

ग्राम सभा में सफाईकर्मियों द्वारा रोस्टर बनाकर प्रतिदिन खुद सफाईकर्मी विद्यालय व ग्रामसभा की सफाई नियमित रूप से करते हैं। स्वच्छता अभियान के लिए ग्राम सभा में जगह-जगह कूड़ेदान रखे गए हैं जिनमे गाँव के लोग कूड़ा डालते हैं। ग्राम सभा के ग्राम पंचायत अधिकारी विकास पांडे ने बताया कि ग्रामसभा का एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है जिसमें ग्राम सभा की समितियों के सदस्य व जागरूक नागरिक जुड़े हैं जो ग्रामसभा की कोई भी कमी व सुझाव को तत्काल अवगत कराते हैं, जिस पर तत्काल समस्या का निराकरण होता है एवं जिससे ग्रामीणों से सीधा संवाद भी बना रहता है।

ग्राम सभा की ग्राम प्रधान प्रकाशिनी जायसवाल ने बताया कि हमारी तरफ से किया गया यह एक प्रयास है जिससे मेरे गांव का विकास बेहतर हो सके। मानव विकास करने के लिए निरन्तर प्रयास कर रहा है जिससे ग्रामीणों का जीवन स्तर बेहतर हो सके और गाँव की पहचान विश्व मानचित्र पर हो। अन्य ग्राम पंचायतों के उदाहरण के लिए ग्राम सभा की एक डाक्यूमेंट्री फ़िल्म भी बनाई गई है। इसका लोग लाभ उठा रहे हैं। ग्राम सभा को बेहतरीन करने के लिए यूनिसेफ टीम का विशेष सहयोग रहा। उत्साहित टीम पूरी तरीके से जोश में वापस शाम को आ गई और अपने-अपने ग्राम सभाओं को बदलाव के लिए पूरी तरीके से मन बना लिया है। पूरी टीम का मार्गदर्शन जिला पंचायत राज अधिकारी राकेश कुमार यादव द्वारा किया गया ।

url and counting visits