सई नदी की करुण कथा : पौराणिक और ऐतिहासिक नदी मर रही है

प्रयागराज मे काँवरियों को ‘सरकारी’ सुविधा देने के कारण यातायात अवरुद्ध!

● आचार्य पं० पृथ्वीनाथ पाण्डेय

आज (२५ जुलाई) प्रयागराज के प्रमुख सड़क-मार्ग जी०टी० रोड– झूसी, अलोपीबाग़, बैरहना, बाई का बाग, रामबाग़ आदिक क्षेत्रों मे कथित हिन्दू-भक्ति का प्रभाव गहराई के साथ अनुभव किया गया। मेरे मुहल्ले की मुख्य सड़क, जो ठीक मेरे निवास-स्थान के बग़ल मे स्थित है, वह देश के किसी भी कोने मे ले जाने मे समर्थ है और दो मिनट के भीतर किसी पदातिक (पैदलयात्री) को जी० टी० रोड पहुँचा देती है, पर ज़बरदस्त रेल्लमपेल का नज़ारा था; सामान्य व्यक्ति के लिए एकमार्गीय गमनागमन (‘आवागमन’ अशुद्ध है।) के कारण कई किलोमीटर तक वाहनो का काफ़िला देखते ही बनता था। भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी तथा भगवाधारी बाबाओं की कारें भी एकमार्गीय व्यवस्था की शिकार दिख रही थीं।

मज़े की बात कि वे सभी और अन्य जन काँवरियों की ‘मा-बहन’ को थोक के भाव मे तोले जा रहे थे।